25 हजार की रिश्वत लेने के मामले में जनपद सीईओ को 4 साल की कैद

Share Scn News India

बैतूल। जिले की घोड़ाडोंगरी जनपद पंचायत के पूर्व सीईओ जीके शास्त्री को 25 हजार रुपए की रिश्वत लेने के मामले में प्रथम अपर सत्र न्यायालय ने भ्रष्टाचार अधिनियम की अलग अलग धाराओं में 3 एवं 4 साल की कैद एवं अर्थदंड की सजा से दंडित किया है।

अर्थदंड अदा न करने की दशा में दोनों धाराओं में 1-1 माह के अतिरिक्त सश्रम कारावास की सजा सुनाई गई। लोकायुक्त पुलिस ने 8 मई 2013 को जनपद पंचायत सीईओ जीके शास्त्री को रिश्वत लेते हुए रंगे हाथों पकड़ा था।

जिला अभियोजन अधिकारी एमआर खान से मिली जानकारी के अनुसार जनपद पंचायत घोड़ाडोंगरी में सीईओ के पद पर पदस्थ रहने के दौरान ग्राम पंचायत शक्तिगढ़ की सरपंच से निर्माण कार्यों का सही मूल्यांकन करने के बदले में 25 हजार रुपए की रिश्वत की मांग की गई थी।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!