बढ़ते वायु प्रदूषण पर चिंता, कलेक्टर ने अडवाइजरी जारी की

Scn news share

जिला दण्डाधिकारी एवं कलेक्टर महेश चन्द्र चौधरी ने शहर में बढ़ते वायु प्रदूषण पर नियंत्रण के लिए नगर निगम जबलपुर सहित विभिन्न विभागों को विशेष उपाय अपनाये जाने हेतु एडवाईजरी जारी की है। श्री चौधरी ने इस बारे में जारी किये गये पत्र में मध्यप्रदेश प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड के क्षेत्रीय अधिकारी द्वारा सौंपे गये प्रतिवेदन का हवाला देते हुए कहा है कि प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड द्वारा कराई गई परिवेशीय वायु गुणवत्ता जांच में शहर के विभिन्न चौराहों एवं व्यस्ततम स्थलों पर रेस्पायरेबल सस्पेंडेड पार्टीकुलेट मैटर (आरएसपीएम) निर्धारित सीमा 100 माइकोग्राम प्रति घनमीटर से अधिक पाये गये हैं।
पत्र में जिला दण्डाधिकारी ने कहा है कि ठंड के मौसम में तापमान कम रहने के कारण गैसों का बिखराव कम होता है तथा सस्पेंडेड पार्टीकुलेट पर ओस ठहर जाने से कोहरे जैसी स्थिति निर्मित होने के कारण रात के समय दृश्यता कम हो जाती है। उन्होंने कहा कि क्षेत्रीय अधिकारी प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड ने इन परिस्थितियों से निपटने के लिए विशेष उपाय किये जाने की आवश्यकता अपने प्रतिवेदन में बताई है।
जिला दण्डाधिकारी ने क्षेत्रीय अधिकारी प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड के प्रतिवेदन के आधार पर विशेष उपाय किये जाने हेतु नगर निगम को जारी एडवाइजरी में सड़क एवं सड़क के फुटपाथ आदि की नियमित साफ-सफाई तथा फुटपाथ पर नियमित रूप से जल का छिड़काव सुनिश्चित करने के लिए कहा है। उन्होंने सड़कों की मरम्मत एवं निर्माण कार्य के दौरान भी जल छिड़काव की व्यवस्था करने की बात कही है। श्री चौधरी ने नगर निगम से अपेक्षा की है कि नगरीय ठोस अपशिष्ठ का नियमित रूप से संग्रहण एवं परिवहन सुनिश्चित कराया जाये ताकि सड़कों के किनारे कचरा एकत्र न हो। नगरीय ठोस अपशिष्ठ को खुले में न जलाये जाने पर रोक लगाने की सलाह देते हुए उन्होंने कहा है कि सड़क एवं आसपास के क्षेत्र की अनावश्यक खुदाई भी न की जाये और आवश्यक होने पर खुदाई के तत्काल बाद उसकी मरम्मत कराई जाये।
जिला दण्डाधिकारी ने एडवाइजरी में नगर निगम से कहा है कि शहर में होने वाले निर्माण कार्यों के दौरान उत्पन्न होने वाली धूल के नियंत्रण हेतु नियमित रूप से जल का छिड़काव कराया जाये। साथ ही निर्माण और भवनों या मकानों को गिराये जाने से निकलने वाले मलबे का सुरक्षित ढंग से निपटान करने की बात भी एडवाइजरी में कही गई है ताकि आसपास के क्षेत्र में ये धूल उड़ने का कारण न बने। श्री चौधरी ने शहर में पालीथिन कैरीबेग के उपयोग पर लगी रोक को प्रभावी तरीके से लागू करने तथा प्रत्येक दुकानदार को अपनी दुकान पर ठोस अपशिष्ठ एकत्र करने के लिए डस्टबिन रखना अनिवार्य करने की अपेक्षा भी नगर निगम से की है।
जिला दण्डाधिकारी ने यातायात विभाग के लिए जारी एडवाइजरी में कहा है कि वायु प्रदूषण पर नियंत्रण के लिए आम जनता को वाहनों की समय पर मरम्मत एवं इंजन की ट्रेनिंग कराई जाने हेतु प्रेरित किया जाये ताकि वाहनों से प्रदूषकों का निर्धारित मात्रा से अधिक उत्सर्जन न हो। उन्होंने क्षेत्रीय परिवहन अधिकारी एवं यातायात पुलिस द्वारा सड़क पर चलने वाले वाहनों के पी.यू.सी. सर्टिफिकेट की सघन जांच किये जाने की बात कही है। श्री चौधरी ने 15 वर्ष से अधिक पुराने वाहनों एवं आटो रिक्शा का प्रचलन सघन यातायात अथवा भीड़भाड़ वाले क्षेत्रों में प्रतिबंधित किये जाने की जरूरत बताई है। साथ ही ऐसे क्षेत्रों में वाहनों की संख्या को नियंत्रित करने की सलाह भी दी है, जहां धीमें यातायात के कारण अधिक ईधन की खपत एवं प्रदूषकों के उत्सर्जन की संभावना ज्यादा हो।
जिला दण्डाधिकारी ने एडवाइजरी में यातायात विभाग से कहा है कि ट्रेफिक सिग्नल वाले चौराहों पर अधिक समय तक विराम की स्थिति रहने पर वाहनों को बंद करने तथा यलो सिग्नल होने पर ही वाहन को पुन: चालू करने के लिए लोगों को प्रेरित किया जाये। पेट्रोल पम्पों की सघन जांच कर पेट्रोल-डीजल में केरोसिन, नेप्था या अन्य पदार्थों की मिलावट पर सख्ती से रोक लगाने की अपेक्षा करते हुए उन्होंने यातायात विभाग को जारी एडवाइजरी में धूल के उत्सर्जन को रोकने के लिए शहर में वाहनों की गति पर नियंत्रण रखने, भारी वाहनों के शहर में प्रवेश पर लगी रोक का कड़ाई से पालन सुनिश्चित करने तथा व्यावसायिक गतिविधियों में प्रयुक्त वाहनों पर लोडिंग एवं अनलोडिंग की गतिविधियों को भी नियंत्रित करने की जरूरत बताई है।
जिला दण्डाधिकारी ने एडवाइजरी में कृषि विभाग के अधिकारियों से कहा है कि वे नरवाई राष्ट्रीय हरित अधिकरण द्वारा लगाई रोक का कड़ाई से पालन करायें। उन्होंने वायु प्रदूषण को रोकने के लिए खुली भट्टियों के माध्यम से गुड बनाने के कार्य पर भी प्रभावी रोक लगाने की बात कृषि विभाग को जारी एडवाइजरी में की है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *