विधानसभा में कांग्रेस विधायकों ने जमकर मचाया हंगामा

Scn news share

भोपाल गैंगरेप एवं मध्यप्रदेश में बलात्कार के मामलों पर तत्काल चर्चा कराए जाने की मांग को लेकर विधानसभा में कांग्रेस विधायकों ने जमकर हंगामा किया। सत्र की शुरूआत से लगातार हंगामा चलता रहा। सत्तापक्ष की ओर से बार बार निवेदन किया गया कि नियमानुसार कार्यवाही चलने दें परंतु कांग्रेसी विधायक नहीं माने और 4 बार कार्यवाही स्थगित करने के बाद सत्र को स्थगित कर दिया गया। इसके बाद नेता प्रतिपक्ष अजय सिंह और विपक्षी विधायकों ने परिसर में स्थित महात्मा गांधी की प्रतिमा के सामने धरना देकर आधे घंटे तक मौन प्रदर्शन किया।

विपक्षियों ने आरोप लगाया कि सरकार चर्चा से बचना चाहती है सदन में हंगामे के दौरान गृहमंत्री भूपेंद्र से अपने स्थान पर चुपचाप बैठे रहे उन्होंने इस पूरे घटनाक्रम के दौरान एक शब्द भी नहीं बोला। बाबूलाल गौर ने सत्ता पक्ष की ओर से विपक्ष से गुजारिश की कि सदन को चलने दें, निम्न अनुसार प्रश्न होने दें लेकिन उनकी बात को भी अनसुना कर दिया गया। इसके बाद विधानसभा की कार्यवाही दूसरी बार 10 मिनट के लिए स्थगित हुई।
डॉ गोविंद सिंह ने किया सरकार पर तीखा प्रहार कर कहा कि एक मंत्री जो 302 का आरोपी है। उस तक पर कार्यवाही नहीं हो पा रही। प्रदेश में कानून व्यवस्था की स्थिति हो बिगड़ चुकी है। मंत्री पर ही कार्यवाही नहीं तो आम जनता का क्या हाल हो रहा होगा। यह समझा जा सकता है यदि इस महत्वपूर्ण मुद्दे पर भी सरकार सदन में चर्चा नहीं कराती है तो फिर वह किस मुद्दे पर चर्चा कराएगी।
वही सरकार की ओर से पंचायत एवं ग्रामीण विकास मंत्री गोपाल भार्गव ने कहा कि शक्ति कांड मामले में सभी कार्यवाही हो चुकी हैं। सूखे सहित अन्य समस्याओं से जुड़े कई मामले हैं, जिन पर चर्चा होनी है लेकिन लगता है कि विपक्ष चर्चा से भाग रहा हैं। वहीं सरकार के 12 साल बेमिसाल पर भी सवाल उठे, विपक्ष ने कहा कि यह कैसा बेमिसाल जब प्रदेश में महिलाएं बच्चे ही सुरक्षित नहीं तो फिर बेमिसाल कैसा।
विधानसभा की कार्यवाही तीसरी बार 12 बजे तक के लिए स्थगित की गई। हंगामा जारी रहा, इस बीच विधानसभा अध्यक्ष ने दो प्रश्न भी कराएं कांग्रेस विधायक स्थगन प्रस्ताव पर चर्चा कराने अड़े रहे। विधानसभा अध्यक्ष ने कहा किसी ना किसी रूप में चर्चा करा ली जाएगी पर कांग्रेसी विधायक इसके लिए सहमत नहीं हुए। इसके बाद कार्यवाही चौथी बार स्थगित हुई।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *