आद्या् ने 11 वर्ष की उम्र में द्वितीय काव्य संकलन से समाज को दी नई सोच, काव्य की ऊंचाइयां छूता बालमन – कलेक्टर

Scn news share


बैतूल – शासकीय् उच्चतर माध्यमिक विद्यालय गंज बैतूल के सभाकक्ष में आर्टिस्ट ऑफ द फ्यूचर 2017 कार्यक्रम में कलेक्टर श्री शशांक मिश्र द्वारा कु. आद्या् तोमर के द्वितीय काव्य संकलन ’’बाल परिधि मेरी 51 कविताऐं’’ का विमोचन किया गया।
इस अवसर पर कलेक्टर श्री शशांक मिश्र ने कहा कि इतनी छोटी सी उम्र में द्वितीय काव्य संकलन का विमोचन अत्यंत गौरव का विषय है। अध्ययन के साथ ही रूचि को समय देते हुये कुछ अलग कर गुजरना अद्वितीय प्रतिभा का द्यो्तक है। आद्या् के काव्य संकलन में उसका बालमन काव्य की ऊंचाइयां छूता है। बाल कवियत्री की किसी भी अन्य कवि से तुलना नही की जा सकती, उसका लेखन अपने आप में विलक्षण है। आद्या् के माता-पिता और संपूर्ण परिवार बधाई के पात्र हैं कि उन्होंने बालमन को पंख प्रदान किये, जिन पंखों से आद्या् ने इतनी ऊंची उड़ान भरी। आद्या् की कविताऐं बालमन की सुंदर अभिव्यक्ति का प्रतिनिधित्व करती हैं। श्री मिश्र ने कहा कि भविष्य में आद्या् अपनी संपूर्ण क्षमताओं के साथ सतत् लिखें, बेहतर लिखें और काव्य के क्षेत्र में अपने परिवार का एवं बैतूल जिले का नाम रौशन करें। इस अवसर पर आद्या् के काव्य संकलन के आवरण पृष्ठ के चित्र का अनावरण भी कलेक्टर श्री शशांक मिश्र द्वारा किया गया।
श्री दृगपाल सिंह तोमर एवं श्रीमती श्रुति गौर तोमर की पुत्री कु. आद्या् तोमर कक्षा 6 में अध्ययनरत हैं एवं आर.डी. पब्लिक स्कूल की छात्रा है। बाल परिधि मेरी 51 कविताएं उनका द्वितीय काव्य संकलन है। पूर्व में 9 वर्ष की आयु में प्रथम काव्य संकलन ‘‘आद्य्’’ उनके द्वारा लिखा जा चुका है। जिसका विमोचन तत्कालीन कलेक्टर श्री ज्ञानेश्वर बी. पाटिल द्वारा किया गया था। स्कूल में अध्ययन के साथ ही कविता लेखन का कार्य वह करती हैं। आद्या् अपनी प्रेरणा स्त्रोत् अपनी मां को मानती हैं एवं पिता श्री द्वगपालसिंह तोमर के तत्पर सहयोग से वे यहां तक पहुंची हैं। आद्या् अपने नाना श्री व्ही.व्ही. सिंह गौर सेवानिवृत्त डिप्टी कलेक्टर के रौबदार व्यक्तित्व से बहुत प्रभावित हैं और उन्हीं की तरह भविष्य में प्रशासनिक सेवाओं में जाने का इरादा रखती हैं। उनके द्वारा नौनिहाल हम वतन के, समय बडा बलवान, छुटकू काका, सिमिया बाई, मम्मी हमको एक सुना दो कहानी, हेल्थ रहेगी वैरी गुड कविताओं का वाचन किया गया। ”बाल परिधि मेरी 51 कविताए”ं काव्य संग्रह जीवन के हर लम्हे और पहलू को संजोती, विविधता भरी बालमन की सुंदर अभिव्यक्ति है, जिसमें राष्ट्रप्रेम, पशुपक्षी प्रेम, आधुनिक तकनीक, शिक्षा, फलों के गुण, पर्यावरण, त्यौहार, होली, दीवाली, ईद, गणेश चतुर्थी, बस्ता, स्वास्थ्य, संघर्ष, प्रकृति, भारत माता, स्नेह, बारिश, छुट्टी, मीनारें, रेल, घड़ी, इंटरनेट, मातृभाषा हिन्दी, खेलों का संसार, बचपन, पौधे, तितली और कहानी आदि विविध विषयों को समाहित किया गया है।
आद्या ने अपने काव्य संकलन का आवरण पृष्ठ भी स्वयं बनाया है। उन्हें चित्रकारी का भी शौक है, चित्रकार श्री श्रेणिक जैन के मार्गदर्शन में आवरण पृष्ठ का चित्र उन्होंने अपनी कविता ’’मत घबराना संघर्षो से’’ को समर्पित किया है।
विमोचन में जिला जनसंपर्क अधिकारी श्री एस0के0 तिवारी, जिला विस्तार एवं माध्यम अधिकारी श्रीमती श्रुति गौर तोमर, नेहरू युवा केन्द्र से श्री शिवपाल सिंह राजपूत, समाजसेवी श्री मनीष दीक्षित, श्री मनोज तिवारी, श्री संजय पठाडे शेष एवं श्री श्रेणिक जैन भी उपस्थित रहे। कु. आद्या तोमर को जिला पंचायत अध्यक्ष श्री सूरजलाल जावरकर, विधायक श्री हेमन्त खण्डेलवाल, नगरपालिका अध्यक्ष श्री अलकेश आर्य, अशोकनगर कलेक्टर श्री बी.एस. जामोद, आरडीपीएस की डायरेक्टर श्रीमति रितु खण्डेलवाल, प्राचार्य श्री हेमन्त मेहर एवं अन्य पारिवारिक इष्ट मित्रों एवं शुभचिंतकों द्वारा शुभकामनायें दी गई। कार्यक्रम में श्रीमती मीरा एन्थोनी, श्रीमति मंजू लंगोटे, श्रीमती मीना चांदे, श्रीमति निमिषा शुक्ला, श्री संजय शुक्ला, श्री हरिहर डोमने, श्री सुधीर मालवीय, श्री सुधीर जोशी, श्री महेन्द्र वर्मा एवं पत्रकारगण भी उपस्थित रहे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *