ईको ग्रीन कंपनी के माध्यम से कार्य प्रारंभ होने से शहर को मिलेगी कचरे से मुक्ति – श्रीमती माया सिंह 

Scn news share

नगरीय विकास एवं आवास मंत्री श्रीमती माया सिंह ने कहा है कि ग्वालियर शहर को कचरा मुक्त बनाने के लिये ईको ग्रीन कंपनी द्वारा कार्य प्रारंभ किया जा रहा है। इसके प्रारंभ होने से ग्वालियर कचरा मुक्त शहर बनेगा और कचरे से बिजली बनाने का कार्य भी होगा। जबलपुर के बाद ग्वालियर में भी अब कचरे से बिजली बनेगी। श्रीमती माया सिंह ने नगर निगम और ईको ग्रीन कंपनी के सहयोग से ग्वालियर में प्रारंभ किए गए ठोस कचरा प्रबंधन केन्द्र के शुभारंभ अवसर पर यह बात कही।
रविवार को मेला ग्राउण्ड परिसर में ठोस कचरा प्रबंधन केन्द्र के लोकार्पण अवसर पर आयोजित कार्यक्रम की अध्यक्षता महापौर श्री विवेक नारायण शेजवलकर ने की। इस मौके पर नगर निगम सभापति श्री राकेश माहौर, कलेक्टर श्री राहुल जैन, स्वास्थ्य प्रभारी श्रीमती खुशबू गुप्ता सहित एमआईसी मेम्बर श्री धर्मेन्द्र राणा, श्री केशव सिंह, श्रीमती नीलिमा शिंदे, श्री गुरवानी, नगर निगम आयुक्त श्री विनोद शर्मा, क्षेत्रीय पार्षद श्री चतुर्भुज दनोलिया सहित पार्षदगण, गणमान्य नागरिक और बड़ी संख्या में एनसीसी और एनएसएस के साथ स्कूली बच्चे उपस्थित थे।
नगरीय विकास मंत्री श्रीमती माया सिंह ने कहा कि ग्वालियर में ईको ग्रीन कंपनी के माध्यम से ठोस अपशिष्ट प्रबंधन का कार्य प्रारंभ किया गया है। इस परियोजना के तहत ग्वालियर सहित नगर निगम मुरैना एवं 14 अन्य नगर पालिकाओं से लगभग 600 टन कचरा प्रतिदिन एकत्र कर उसका वैज्ञानिक तरीके से निष्पादन किया जायेगा। उन्होने कहा कि कंपनी द्वारा स्मार्ट तरीके से कचरे का कलेक्शन और उसका निष्पादन किया जायेगा। प्रदेश में जबलपुर के बाद ग्वालियर दूसरा शहर बना है, जहाँ पर कचरे से बिजली बनाने का कार्य प्रारंभ किया जा रहा है।
श्रीमती माया सिंह ने कहा कि देश का मध्यप्रदेश पहला राज्य है, जहाँ पर अमृत परियोजना का कार्य प्रारंभ किया गया है। इसके साथ ही कचरे से बिजली बनाने का कार्य भी दो बड़ी नगर निगमों में प्रारंभ हो गया है। इस कार्य से शहरवासियों को कचरा मुक्त शहर मिलेगा, वहीं शहर को गंदगी से भी निजात मिलेगी।
कार्यक्रम की अध्यक्षता करते हुए महापौर श्री विवेक नारायण शेजवलकर ने कहा कि नगर निगम ग्वालियर में लैण्डफिल साइट का कार्य पुन: ईको ग्रीन कंपनी के माध्यम से प्रारंभ किया जा रहा है। ग्वालियर नगर निगम में वर्ष 2009 में लैण्डफिल साइट बनी थी। किन्हीं कारणों से वह बंद हो गईं। ठोस कचरा प्रबंधन परियोजना के तहत पुन: ईको ग्रीन कंपनी के माध्यम से डोर-टू-डोर कचरा कलेक्शन और कचरे से विद्युत बनाने का कार्य आज प्रारंभ हुआ है। इसके प्रारंभ होने से शहर को कचरे से निजात मिलेगी।
उन्होंने कहा कि कंपनी के माध्यम से घर-घर से कचरा एकत्र करने के साथ ही शहर के बड़े संस्थानों और प्रतिष्ठानों से भी कंपनी द्वारा कचरा एकत्र किया जायेगा। शहर के समीप ही एयरफोर्स, बीएसएफ टेकनपुर, मुरार केन्टोनमेंट बोर्ड, खादी का कचरा भी कंपनी द्वारा कलेक्शन किया जायेगा। इसके साथ ही आस-पास के 14 नगर निगमों एवं नगर पालिकाओं का कचरा भी कंपनी द्वारा एकत्र किया जायेगा।
कार्यक्रम के प्रारंभ में नगर निगम आयुक्त श्री विनोद शर्मा ने ईको ग्रीन कंपनी के माध्यम से किए जाने वाले कार्यों के संबंध में विस्तार से जानकारी दी। उन्होंने बताया कि हमारा लक्ष्य है कि शहर को हम डस्टबिन फ्री शहर बनायेंगे। उन्होंने कहा कि कंपनी की गाडियाँ अब घर-घर से कचरा एकत्र करने का कार्य प्रारंभ करेंगी और कचरे से बिजली बनाने का कार्य भी शीघ्र ही प्रारंभ किया जायेगा।

वाहन रैली को दिखाई हरी झण्डी

नगरीय प्रशासन मंत्री श्रीमती माया सिंह और महापौर श्री विवेक नारायण शेजवलकर ने ईको ग्रीन कंपनी की कचरा कलेक्शन गाडियों की रैली को भी हरी झण्डी दिखाई। इन गाडियों के माध्यम से घर-घर से कचरा कलेक्शन का कार्य किया जायेगा।

फोटो प्रदर्शनी का अवलोकन

नगर निगम द्वारा शहर में चलाए जा रहे स्वच्छता अभियान के संबंध में फोटो प्रदर्शनी भी लगाई गई। फोटो प्रदर्शनी का अतिथियों द्वारा अवलोकन किया गया।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *