भोपाल फिर एक छात्रा फांसी पर झूली मामला जांच में

Scn news india share

भोपाल जहांगीराबाद इलाके में सीए के पास ट्रेनिंग कर रही बीकॉम की एक छात्रा ने फांसी लगाकर आत्महत्या कर ली। छात्रा एमपी नगर में एक सीए के यहां नौकरी करती थी। आॅफिस से लौटकर आई युवती गुमसुम थी। उसने पिता को बताया कि सिर दर्द हो रहा है। फिर अपने भाईयों को बाजार भेज दिया और फांसी पर झूल गई। पुलिस यह पता लगाने की कोशिश कर रही है कि आॅफिस में ऐसा क्या हुआ था जो तनाव का कारण बना। पुलिस ने बताया

चर्च रोड जहांगीराबाद निवासी 20 वर्षीय दिव्या विश्वकर्मा पिता टीकाराम विश्वकर्मा बीकॉम फोर्थ सेमेस्टर की छात्रा थी। वह पढ़ाई के साथ एमपी नगर में एक सीए के यहां अकाउंट की ट्रेनिंग ले रही थीं। एसआई राकेश मिश्रा के अनुसार शुक्रवार शाम चार बजे ऑफिस से लौटकर दिव्या ने पिता से कहा कि सिर में दर्द हो रहा है और वह सोने चली गई। पिता भी सामान्य दिनों की तरह अपने काम से एमपी नगर चले गए।
इस बीच दिव्या ने 14 और 12 साल के दोनों भाइयों को जलेबी लाने के बहाने घर से बाहर भेज दिया। जब 10 मिनट बाद वे घर पहुंचे तो भाइयों को दिव्या फांसी पर लटकी मिली। उन्होंने आननफानन में फंदा काटकर बहन को उतारा देखा तो उसकी सांसें चल रही थी। लेकिन अस्पताल ले जाते जाते उसकी साँसें टूट गई डॉक्टरों ने उसे मृत घोषित कर दिया। पिता ने पुलिस को बताया कि दिव्या को माइग्रेन की समस्या थी।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!