टीआई के खिलाफ पत्नी और बेटी पहुंची पुलिस अधीक्षक के पास, मांगा हक

Scn news share

बैतूल – मध्यप्रदेश में इन दिनों पुलिस विभाग के सितारे गर्दिश में है हाल ही में अशोक नगर में ए एस आई के द्वारा टावर पर फांसी लगा कर आत्म हत्या करने की घटना ने विभाग की अंदरूनी खामिया सामने आई हैं वही बैतूल कोतवाली मे पदस्त रिटायरमेंट के एन वक्त पहले कोतवाली टीआई के खिलाफ नया विवाद सामने आगया है ।उनकी पत्नी ने शनिवार को बैतूल पहुंचकर एसपी को शिकायत की है कि टीआई एस के झा ने तलाक दिए बिना दूसरी शादी कर ली उनके साथ आई बेटी ने भी टीआई झा पर आरोप लगाए है ।इस शिकायत के बाद टीआई नए विवाद में घिर गए है ।
विदिशा की आम वाली कालोनी निवासी विमला देवी झा ने आरोप लगाया है कि उनके पति पुलिस विभाग में टीआई के पद पर है जो कि वर्तमान मे बैतूल कोतवाली में पदस्थ है ।श्रीमती झा ने शनिवार को एसपी को शिकायत में बताया कि वर्ष 2016 में पति द्वारा बहला फुसलाकर अपनी खराब सेहत का हवाला देते हुए धोखे से नोटरी पर दस्तखत करवा लिये ।जिस में उल्लेख किया गया है कि वह बीमार रहती है और एक विकलांग पुत्र है ।मुझे इनकी दूसरी शादी से कोई आपत्ति नही है।एक माह बाद वर्षा दुबे निवासी पिपरिया से टीआई झा ने मुझे तलाक दिए बिना दूसरा विवाह कर लिया जो कि असंवैधानिक है ।श्रीमती झा ने आरोप लगाए है कि वे उक्त महिला को एक वर्ष से अपने साथ कोतवाली परिसर के सरकारी आवास में रख रहे है ।मैं जब भी बैतूल अपने पति से मिलने आती थी मुझे डरा धमका कर वापस कर दिया जाता था ।इस प्रकार मेरे अधिकारो का हनन होते दिखाई दे रहा है ।श्रीमती झा ने एसपी से अनुरोध किया है कि वह आर्थिक रूप से असहाय है और उनके पति पर निर्भर है उनके पति इसी माह रिटायर हो रहे है मुझे डर है कि मेरे पति अपनी पेंशन ,जीपीएफ की राशि उक्त महिला वर्षा दुबे को दे देंगे इससे मैं समस्त अधिकारों से वंचित रह जाऊंगी ।श्रीमती झा ने उक्त महिला से अपनी जान को खतरा होने का उल्लेख करते हुए पेंशन की राशि दिलवाने के अनुरोध भी किया है ।
इनका कहना है
शिकायत गलत है मेरी बेटी अपनी माँ को बरगला कर यह सब कारवा रही है ।वह अपने ससुराल में भी नही रह रही हमारे विदिशा के मकान पर भी कब्जा कर लिया है अब वह मेरे फण्ड ओर अन्य प्रॉपर्टी के लिए अपनी माँ को बरगला रही है ।मेरी पत्नी की मानसिक स्थिति भी ठीक नही है । जबकि पेंशन और अन्य सभी दस्तावेजो में मेरी पत्नी का ही नाम है तो मैं कैसे किसी और को फायदा पहुंचा सकता हूँ

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *