सुषमा ने जाधव मामले में पाक की खिंचाई की

Share Scn News India

पाकिस्तान की जेल में बंद भारतीय नागरिक कुलभूषण जाधव के परिवार के साथ की गई बदसलूकी से पूरा देश आगबबूला है। वही , इस मुद्दे पर विदेश मंत्री सुषमा स्वराज ने आज संसद में कहा कि सुरक्षा के नाम पर परिवार के कपड़े तक उतरावा दिए गए। जाधव की मां साड़ी पहनती है लेकिन उन्‍हें पहनने को सूट दिया गया।

सुषमा स्‍वराज ने कहा कि पत्‍नी के ही नहीं मां के भी बिंदी, चूड़ी और मंगलसूत्र उतरावाया था। कुलभूषण की मां ने पाकिस्‍तान के अधिकारियों से कहा था कि ये मेरा सुहाग का प्रतीक है और मैंने कभी नहीं उतरा था। सुषमा स्‍वराज ने बताया कि मंगलसूत्र ना देखकर कुलभूषण ने सबसे पहले अपनी मां से पूछा था कि बाबा कैसे हैं।

सुषमा ने कहा कि ये खेद का विषय है कि मुलाकात में इस तरह का व्यवहार किया। सुषमा ने कहा कि पाकिस्तान ने इस मुलाकात को प्रोपेगेंडा बनाया। जाधव की मां सिर्फ साड़ी पहनती हैं। उनके भी कपड़े भी बदलवा दिए गए। मीडिया को मां और पत्नी के नजदीक आने दिया गया जो हमारी शर्तों के खिलाफ था।

सुषमा स्‍वराज ने बताया कि उप-उच्चायुक्त की अनुपस्थिति में जाधव से उनकी मां और पत्‍नी की मुलाकात शुरू हुई। इस दौरान मां और पत्‍नी के कपड़े बदलवा दिए गए थे। अगर उन्होंने देखा होता कि परिवार के सदस्यों के कपड़े बदले जा रहे हैं, तो वह विरोध दर्ज जरूर करवाते। उन्‍होंने कहा, भगवान का शुक्र है कि उन्होंने यह नहीं कहा कि उनके (कुलभूषण जाधव की पत्नी) जूते में एक बम था!

सुषमा ने कहा कि उन्हें मराठी में बात करने से रोका गया। जाधव की मां और पत्नी को बहुत तंग किया गया। दोनों के जूते उतरवा दिये गये थे। बाद में मांगने पर भी जूता उन्हें नहीं दिया गया। हमारा शक सही साबित हो रहा है। पाकिस्तान इन जूतों को लेकर कई सवाल खड़े कर रहा है। वह कह रहा है कि उसमें चिप लगा है जिसकी जांच चल रही है।

सुषमा ने कहा कि पाकिस्‍तान ने जान-बूझकर प्रेस को जाधव के परिवार के पास आने दिया और उन्‍हें तरह-तरह के अपशब्‍दों से संबोधित कर ताने दिए गए।

सुषमा ने सदन में बताया कि जाधव को देखकर लग रहा था कि वह दबाव में है और उससे दबाव में सब कहलवाया गया। बैठक में मानवता नहीं दिखायी गयी उन्हें डराने की कोशिश हुई।

आपको बता दे कि भारतीय नागरिक कुलभूषण जाधव के परिवार के साथ पाकिस्तान में दुर्व्यवहार के मुद्दे पर विदेश मंत्री सुषमा स्‍वराज ने कहा कि 25 दिसंबर को जाधव के परिवार ने पाकिस्‍तान में की मुलाकात थी। हम इस मुद्दे को लेकर आईसीजे तक गए और पाकिस्‍तान के फैसले को अभी अंतराष्‍ट्रीय अदालत ने रोक दिया है।

बता दे कि बुधवार को जाधव के परिवार के साथ पाकिस्तान में दुर्व्यवहार का मुद्दा लोकसभा में उठा था और सदस्यों ने पड़ोसी देश के इस कृत्य की कड़ी निंदा की थी।

इससे पहले, बुधवार को शून्यकाल में शिवसेना के अरविंद सावंत, तृणमूल कांग्रेस के सौगत राय, कांग्रेस के मल्लिकार्जुन खडगे, अन्नाद्रमुक के एम थम्बीदुरई समेत अनेक सदस्यों ने सदन में इस मुद्दे को उठाया. सदन में इस मुद्दे को उठाते हुए शिवसेना के अरविंद सावंत ने कहा कि अंतरराष्ट्रीय अदालत के दबाव में पाकिस्तान ने कुलभूषण जाधव के परिवार को उनसे मिलने की इजाजत तो दी लेकिन जाधव की मां और पत्नी के साथ जिस तरह की बदसलूकी की, उसकी कड़ी भर्त्सना की जानी चाहिए

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!