नेहा के माता-पिता को भरोसा है कि अब उनकी बेटी बिना किसी सहारे के जीवन के रास्ते पार कर लेगी

Share Scn News India

बैतूल, – बैतूल के खण्ड चिकित्सालय सेहरा के ग्राम डोक्या निवासी श्री शिवचरण कवड़े की लगभग पौने पांच वर्षीय बेटी नेहा को राष्ट्रीय बाल स्वास्थ्य कार्यक्रम से नि:शुल्क उपचार की सुविधा मिली। नेहा का दाहिना पैर जन्म से ही टेढ़ा था, जिसके कारण वह चलने-फिरने में परेशान होती थी। कमजोर आर्थिक परिस्थति के इस परिवार को नेहा का इलाज कराना बहुत मुश्किल था। एक दिन समीपस्थ ग्राम खेड़ी सांवलीगढ़ में राष्ट्रीय बाल स्वास्थ्य कार्यक्रम के तहत आयोजित शिविर में स्थानीय आशा एवं आंगनबाड़ी कार्यकर्ता के सहयोग से नेहा की जांच की गई। चिकित्सकों ने उसके पैर के ऑपरेशन की सलाह दी।
नेहा के माता-पिता ऑपरेशन को लेकर चिंतित एवं भयग्रस्त थे। खण्ड चिकित्सा अधिकारी डॉ. रजनीश शर्मा द्वारा पूरे परिवार को समझाईश दी गई एवं बताया गया कि आरबीएसके के तहत उनकी बेटी का पूरा इलाज नि:शुल्क कराया जाएगा। डॉ. शर्मा स्वयं नेहा एवं परिवार को एम्बुलेंस में लेकर जिला चिकित्सालय आए। नेहा की मां सोमती की ऑपरेशन के प्रति घबराहट देखकर मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी डॉ. प्रदीप मोजेस ने उसके उपचार एवं स्वस्थ होने की जिम्मेदारी ली। जिला चिकित्सालय के हड्डी रोग विशेषज्ञ डॉ. रूपेश पद्माकर द्वारा 24 फरवरी 2017 को नेहा का ऑपरेशन किया गया एवं एक वर्ष तक लगातार उसका उपचार किया गया। इसके साथ ही उसको नियमित फिजियोथेरेपी भी उपलब्ध कराई गई। अब नेहा पूरी तरह स्वस्थ है एवं बिना किसी सहारे के चलती है। नेहा के माता-पिता अपनी बच्ची को खुद के सहारे चलता देखकर मन से प्रसन्न होते हैं। अब उन्हें भरोसा है कि उनकी बेटी बिना किसी सहारे के जीवन के रास्ते पार कर लेगी।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!