घोघरा से सागर जिले में प्रवेश कर एकात्म यात्रा गढ़ाकोटा पहुंची। यात्रा के मार्ग में ग्रामीणजनों ने जगह-जगह यात्रा का स्वागत किया।

Share Scn News India

गढ़ाकोटा स्थित श्रीमती सुशीला भार्गव शादी घर प्रागंण में एकात्म यात्रा पर जनसंवाद कार्यक्रम का आयोजन किया गया। जनसंवाद कार्यक्रम के प्रारम्भ में कन्यापूजन एवं आदि गुरू शंकराचार्य जी के चरण पादुकाओं का पूजन किया गया। इसके बाद उपस्थित सभी संत महात्माओं का शॉल श्रीफल देकर स्वागत किया गया। इसके पश्चात् स्वामी श्री अखिलेश्वरानंद जी, जिनके मार्गदर्शन में यात्रा चल रही है, ने आदि गुरू शंकराचार्य के दर्शन एवं जीवन के पावन स्मरर्ण का वर्णन किया। उन्होंने बताया कि देश को आध्यत्मिक एवं वैचारिक एकता के सूत्र में बांधने का कार्य आदि गुरू ने किया। स्वामी अखिलेश्वरानंद ने जनसंवाद में आये उपासकों से जयघोस के नारे लगवायें। श्री अखिलेश्वरानंद ने आदि गुरू शंकराचार्य के बाल जीवन से लेकर 32 वर्ष के जीवनकाल को क्रमबद्व तरीके से बताया। स्वामी अखिलेश्वरानंद ने अपने आर्शीवचनों में कहा कि वे आदि गुरू शंकराचार्य के अनुसार जीवन यापन कर रहे है। साथ ही आपने कहा कि आदि गुरू ने समाज में व्याप्त कुरीतियों और असमान्ता को मिठाकर सभी वर्गो को एक समान भाईचारे से रहने के लिए सामाजिक समरसता का बोध कराया। इस एकात्म यात्रा की पहल मध्यप्रदेश शासन के यशस्वी मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह चौहान के द्वारा की गई है। इसकी रूपरेखा मुख्यमंत्री श्री चौहान ने नर्मदा सेवा यात्रा के दौरान साधु-संतों से विचार विमर्श कर तैयार की। उन्होंने बताया कि पिछले वर्ष चलाए मई नर्मदा सेवा यात्रा का उल्लेख करते हुए उसके सफल आयोजन पर मुख्यमंत्री को बधाई दी। उन्होंने इसका उद्देश्य प्रदेश की पहचान बनाने वाली जीवन रेखा नर्मदा की संरक्षित करना है। वैश्विक तापमान के इस दौर में प्रकृति संरक्षण मध्यप्रदेश की धरती से किया जाना मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह चौहान की अनूठी पहल है। जिसमें वे सफल रहे हैं। स्वामी अखिलेश्वरानंद ने कहा कि एकात्म यात्रा का संकल्प सम्पूर्ण प्रदेश की जनता का संकल्प है। जिसे सफल बनाने सहभागिता कि आवश्यकता है। श्री चौहान ने आदि गुरू शंकराचार्य की जन्म स्थली केरल में जाकर प्रदेश की जनता की ओर से नमन किया गया। श्री अखिलेश्वरानंद ने अपनी अमृतवाणी मे कहा कि भारत आज भी अपने प्राचीन मूल्यों से सुस्ज्जित है। आदि गुरू शंकराचार्य ने जीव ही ब्रम्ह का उद्देश करते हुए सम्पूर्ण भारत में सामाजिक पाखण्ड का नाश कर सामाजिक समरसता, एकात्मता एवं सहजता का परचम लहराया है। जनसंवाद उपरांत दोपहर भोज कर यात्रा ने गढ़ाकोटा से सागर को प्रस्थान किया इस दौरान परसोरिया पर विधायक श्री लारिया ने यात्रा का स्वागत किया। मकरोनिया चौराहे पर नगर पालिका अध्यक्ष ने यात्रा का स्वागत किया। कठुआ पुल पर विधायक श्री शैलेन्द्र जैन, महापौर श्री अभय दरे सहित अन्य गणमान्य नागरिकों ने यात्रा का स्वागत पुष्प वर्षा से किया। इन स्थानों पर स्वागत पश्चात् यात्रा ने सागर मुख्यालय में प्रवेश किया।
जनसंवाद कार्यक्रम में आत्मानंद जी महाराज, बालक दास महाराज, शुदर्शन महाराज तथा स्थानियों संतो सहित राज्य महिला आयोग की अध्यक्ष श्रीमती लता वानखेड़े, श्री शिव चौवे, श्री प्रदीप पटेल, श्री सुल्तान सिंह, श्री अभिषेक भार्गव, श्री संजय दुबे, श्री भरत चौरसिया, श्री महेश कोरी, प्रशासन से कलेक्टर श्री आलोक कुमार सिंह, पुलिस अधीक्षक श्री सत्येन्द्र कुमार शुक्ला, मुख्य कार्यपालन अधिकारी जिला पंचायत श्री चन्द्रशेखर शुक्ला, अतिरिक्त पुलिस अधीक्ष श्री पंकज पाण्डे, एसडीएम श्री एल.के. खरे जन अभियान परषिद के अधिकारी एवं सदस्य सहित अधिकारी एवं भारी संख्या में आमजन मौजूद थे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!