कलम की जगह हाथो में झाड़ू, कैसे बनेगा डिजिटल इंडिया

Share Scn News India

वीरेन्द्र कुर्मी देवरी

सागर – सरकार बच्चों की शिक्षा साक्षरता के लिए कई जतन कर ले पर व्यवस्था जस की तस ही नजर आती हैं । बिछुआ भवतरा के सरकारी स्कूल में बच्चे झाड़ू लगते दिख जायेंगें औऱ एक शिक्षिका कुर्सी पर बैठे धूप सेकने का आनन्द ले रही हैं ।

ये नज़ारा कोई हास्य का विषय नही है बल्कि स्कूल प्रबंधन की मनःस्थिति को दर्शाता हैं कि 21 वी सदी में भी मानसिकता नही बदल पाई । जबकि सरकारी स्कूल में साफ सफाई के लिए अलग से व्यवस्था होती हैं । जिन हाथो में कागज कलम होना चाहिए यदि उन हाथो में झाड़ू हो तो डिजिटल इंडिया का सपना सिर्फ सपना बन कर ही रह जायेगा ।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!