प्रधानमंत्री मातृ वंदना योजना का गर्भवती एवं धात्री महिलाओं को मिलेगा लाभ

Scn news share

बैतूल, – मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी डॉ. प्रदीप मोजेस ने बताया कि स्वास्थ्य विभाग द्वारा प्रधानमंत्री मातृ वंदना योजना (पीएमएमवीवाय) संचालित है। इस योजना का उद्देश्य गर्भवती महिलाओं को मजदूरी की आंशिक क्षतिपूर्ति के रूप में नगद प्रोत्साहन प्रदान करना, ताकि प्रथम बच्चे के प्रसव के पूर्व एवं पश्चात् उन्हें पर्याप्त आराम मिल सके तथा नगद प्रोत्साहन के माध्यम से गर्भवती महिलाओं एवं धात्री माताओं के स्वास्थ्य संबंधी व्यवहारों में सुधार लाना है।
समस्त गर्भवती एवं धात्री माताएं जो निर्धारित शर्तों को पूर्ण करती हैं, वे प्रथम जीवित जन्म के उपरांत इस योजना की पात्र हितग्राही होगीं। गर्भवती तथा धात्री आंगनबाड़ी कार्यकर्ता, सहायिका तथा आशा को निर्धारित शर्तों की पूर्ति करने पर इस योजना के तहत लाभ मिल सकेगा, जबकि समस्त शासकीय/सार्वजनिक क्षेत्र के उपक्रमों, केन्द्र एवं राज्य शासन के गर्भवती एवं धात्री कर्मचारियों को तथा ऐसी महिलाएं जिन्हें किसी कानून के तहत समान लाभ प्राप्त हो, को इस योजना से बाहर रखा गया है।
इस योजना के अंतर्गत लाभ में एक हजार रूपए की राशि प्रथम किश्त के रूप में गर्भावस्था के शीघ्र पंजीयन कराने पर एमसीपी कार्ड एएनएम एवं एमओ द्वारा प्रमाणित कराने पर प्राप्त होगी। दो हजार रूपए की राशि द्वितीय किश्त के रूप में गर्भावस्था के छ: माह तक न्यूनतम एक प्रसवपूर्व जांच कराने पर प्राप्त होगी एवं दो हजार रूपए की तृतीय एवं अंतिम किश्त नवजात शिशु के जन्मोपरांत पंजीयन कराने पर एवं शिशु को बीसीजी, ओरल पोलियो, हेपेटाइटिस बी, पेंटाबेलेंट एक, दो, तीन के निर्धारित समय सीमा में टीके दिए जाने पर शिशु के जन्म प्रमाण पत्र की छायाप्रति एवं एएनएम, एमओ द्वारा सत्यापित एमसीपी कार्ड प्रस्तुत करने पर प्राप्त होगी।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *