ट्रेन में मासूम को छोड़कर भाग गई निर्दयी माँ

Scn news share

दुर्गा प्रसाद जौंजरें आमला

आमला।पूत कपूत सुने थे पर ना माता सुनी कुमाता लेकिन इस लोकोक्ति से परे माता ही कुमाता निकली और ममता की मूरत कहे जाने वाली माँ ने निर्दयता की हद पार कर मासूम बच्ची को बिलखता ट्रेन में छोड़ भाग गई ।

देश व प्रदेश मे बेटी बचाव बेटी पढाओ , बेटी हैं तो कल हैं ये नारे इस घटना को देख जुमले मात्र लगने लगे हैं की कैसे एक कलयुगी माँ अपनी दुधमुही बच्ची को ट्रेन में छोड़कर चली जाती है,या फिर कचरे के ढेर पर फेंक देती है।

बुधवार को दोपहर में छिंदवाड़ा से सराय रोहिल्ला ट्रेन जा रही पातालकोट एक्सप्रेस में आज एक महिला दो महीने की मासूम बच्ची को छोड़कर भाग निकली।ट्रेन जैसे ही बैतूल से आमला रेलवे स्टेशन पर पहुँची एक महिला कपडे में लिपटी एक मासूम बच्ची को लेकर ट्रेन की जनरल बोगी में सवार हुई और जैसे ही ट्रेन का चलना शुरू किया वह बच्ची को छोड़कर ट्रेन से उतर गई जब आसपास बैठे यात्रियों ने सीट पर एक नवजात को देखा तो आमला रेलवे स्टेशन 400 मीटर दूरी पर तक चले जाने तक यात्रियों ने चैन पुलिग कर ट्रेन रोक दी गई।इसी बीच ड्यूटी पर तैनात आमला आरपीएफ एसआई बदनसिंह मीना ने ट्रेन रुकने पर पड़ताल की तो मामला बच्ची का निकला।आरपीएफ ने बच्ची को अपनी कस्टडी में लेकर उसे तुंरत बैतूल पहुचाया जहाँ नवजात को चाइल्ड लाइन के सुपुर्द कर शिशुगृह भेज दिया गया।बच्ची पीले रंग की स्वेटर पहने है

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *