ट्रस्ट अध्यक्ष की उपेक्षा और मनमानी का शिकार बिहारी जी मन्दिर

Share Scn News India

रिपोर्ट-छतरपुर से प्रद्युम्न फौजदार
छतरपुर/बड़ामलहरा के बंधा गांव के बिहारी जी कृष्ण मन्दिर ट्रस्ट के अध्यक्ष की आर्थिक अनियमितताओं और उपेक्षा का शिकार बना हुआ है। ट्रस्ट के अध्यक्ष की मनमानी से तंग आकर ग्रामवासियों व श्रद्धालुओं ने अध्यक्ष को तत्काल हटा कर ट्रस्ट के नए अध्यक्ष के चुनाव की मांग की है इस आशय का ग्रामीणों ने एसडीएम को आवेदन दिया है ट्रस्ट के सचिव प्रेम नारायण पटैरिया ने बताया कि सन् 1995 मे गांव के प्राचीन मंदिर की परिसंपत्तियों की देखरेख,आय व्यय का लेखा जोखा,रखरखाव तथा व्यवस्थाओं के संचालन के लिए पब्लिक ट्रस्ट का बिधिवत् पंजीयन हुआ था जिसमे रामेश्वर पटैरया को ट्रस्ट का अध्यक्ष चुना गया था।टृस्ट द्वारा मन्दिर के कार्य भी अच्छे तरीके से चलते रहे लेकिन तीन वर्ष पूर्व ट्रस्ट के अध्यक्ष की नियत खराब हुई व प्रभावशाली लोगों से मिलकर ट्रस्ट के बैंक खाते मे परिवर्तन कर आर्थिक अनियमिततायें कर मन्दिर की धनराशि का दुरुपयोग किया जाने लगा।दरअसल बैंक मे ट्रस्ट के खाते मे हल्का पटवारी व ट्रस्ट के अध्यक्ष के संयुक्त हस्ताक्षर से लेनदेन होता था लेकिन ट्रस्ट कमेटी को अंधेरे मे रखकर खाते मे परिवर्तन कर केवल अध्यक्ष द्वारा ही लेन देन शुरू कर दिया। पिछले तीन वर्षों से यही प्रक्रिया अपनाई जा रही है।ग्रामीणों ने बताया कि ट्रस्ट के अध्यक्ष रामेश्वर पटेरिया गांव छोड़कर छतरपुर में निवास करने लगे हैं।इनसे कई बार ट्रस्ट के खाते तथा लेनदेन की जानकारी मांगी गई लेकिन वह लगातार जानकारी देने में आनाकानी कर रहे हैं।ग्रामीणों ने आरोप लगाया कि पिछले तीन वर्षों से ट्रस्ट के अध्यक्ष न,तो मंदिर के कार्यों में रुचि लेते हैं न, ही ट्रस्ट के द्वारा धार्मिक कार्यों व आयोजनों में कोई रुचि लेते है।एसडीएम राजीव समाधिया ने ग्रामीणों द्वारा दिए गए आवेदन पर नायब तहसीलदार सपना तिवारी को जांच सौंपकर तत्काल कार्यवाही करने हेतु निर्देशित किया है

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!