बक्सवाहा बना धर्म नगर सिद्धचक्र महामण्डल विधान में श्रद्धालुओं की उमडी़ भीड़

Scn news india share

रिपोर्ट प्रद्युम्न फौजदार छतरपुर
जिले के बक्स्वाहा की सकल दिगम्बर जैन समाज के तत्वावधान में हो रहे सिद्ध चक्र महामंडल विधान को आचार्य विद्यासागर के परम शिष्य ब्रह्रचारी राजेन्द्र भाईया जी के सानिध्य में सम्पन्न कराया जा रहा है।
16 जनवरी से शुरू हुआ श्री 1008 सिद्ध चक्र महामंडल विधान के पांचवे दिन श्रद्धालुओं की उपस्थिति में खासी भीड़ देखने को मिली । विधान के पांचवे दिन सुबह 6 बजे से पंडाल में भक्तों की भीड़ लगनी शुरू हो गई सुबह 6:30 पर भगवान का तीन बेदीयों पर बारी बारी अभिषेक ,पूजन व् संगीतमय आरती हुई तद्पश्चात सौधर्म इंद्र विनोद जैन ,कुबेर बीरेंद्र जैन व् सभी इंद्र इंद्रनियो ने भक्ति की उसके उपरान्त विधान के 256 अर्घ चढ़ाये गए व् विधान कार्यक्रम में बने इंद्र सुकमाल जैन,नवनीत जैन,पंकज जैन ,आलोक जैन के साथ साथ सभी इन्द्रो ने भगवान की संगीतमय भक्ति की।
कुबेर बीरेंद्र जैन ने धन वर्षा की उसके उपरांत भगवन बाहुबली के मस्तकाभिषेक करने श्रद्धालु सिर पर 108 कलश रख कर हाथो में धर्म ध्वजा ले कर सारे नगर में भ्रमण करते हुए बिशाल जुलुस के रूप में मंदिर पहुचे जहां सर्व प्रथम भगवान बाहुबली का मस्तकाभिषेक किया फिर 300 वर्ष प्राचीन पार्श्वनाथ भगवान की प्रतिमा का मस्तकाभिषेक किया उसके उपरांत नवीन बेदी में विराजमान तीनों प्रतिमाओं का मस्तकाभिषेक हुआ आज बिशेष था बाहुबली भगवान का मस्तकाभिषेक यह बाहुबली भगवान का मस्तकाभिषेक पुरे 30 साल बाद हुआ जिसे देखने भारी तादाद में भक्तो की उपस्थिति रही।

वही शाम को संगीतमय आरती व प्रवचन हुए उसके उपरांत धार्मिक नाटक व नृत्य कार्यक्रम के साथ पांचवे दिन का विधान संपन्न हुआ

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!