अदालत ने दिया फैसला शराब माफिया को दो साल के कठोर कारावास की सजा, एक लाख का जुर्माना

Scn news share

रिपोर्ट- छतरपुर से प्रद्युम्न फौजदार
छतरपुर। अवैध शराब रखने के मामले में कोर्ट ने सोमवार को फैसला सुनाया है। सीजेएम दिनेश कुमार शर्मा की अदालत ने दो आरोपियो को दो-दो साल की कठोर कैद के साथ एक लाख रुपए के जुर्माना की सजा सुनाई है।
एडवोकेट लखन राजपूत ने बताया कि 23 जुलाई 2015 को प्रधान आरक्षक उमाशंकर त्रिपाठी ने मुखबिर की सूचना मिलने पर अपने हमराह स्टाफ के साथ मस्तानशाह बाबा की मजार के सामने रानी तलइया छतरपुर पहॅुचे। घटना स्थल पर मौजूद इंडिका कार एमपी 20 टी 7082 की तलाशी ली गई। कार में तीन पेटी कार्टून में 144 क्वार्टर सनी माल्टेड व्हस्की, चार पेटी कार्टून में 200 क्वार्टर देशी सफेद मदिरा कुल 61 लीटर 920 एमएल 17 हजार 640 रुपए कीमत की शराब पाई गई। कार में मौजूद अमित सिंह चैहान निवासी हमा और मनोज यादव निवासी रिक्शा पुरवा से पुलिस ने शराब रखने का लाइसेंस और गाड़ी के कागजात दिखाने को कहा। बिना लाइसेंस की शराब रखने पर पुलिस ने शराब और इंडिका कार को मौके पर जब्त किया। पुलिस कार्यवाही के दौरान आरोपी मनोज यादव पुलिस को चकमा देकर मौके से भाग निकला। आरोपी अमित को पुलिस ने गिरफ्तार किया और दोनो आरोपियो के खिलाफ अवैध शराब रखने का मामला दर्ज किया। बाद में आरोपी मनोज के गिरफ्तार करके मामला कोर्ट में पेश किया।

सीजेएम दिनेश कुमार शर्मा की कोर्ट ने दी सजा-

एडीपीओ आशीष त्रिपाठी ने बताया कि मामले के विचारण के दौरान एडीपीओ शिवाकांत त्रिपाठी ने अभियोजन की ओर से मामले के सभी सबूत कोर्ट में पेश किए। सीजेएम दिनेश कुमार शर्मा की अदालत ने सोमवार को इस मामले में अंतिम फैसला सुनाया है। सीजेएम कोर्ट ने आरोपी मनोज यादव और अमित सिंह चैहान को दोषी करार देते हुए आबकारी अधिनियम की धारा 34(2) के तहत दो साल की कठोर कैद के साथ 50-50 हजार रुपए के जुर्माना की सजा सुनाई। जुर्माना की राशि अदा न करने पर तीन-तीन माह की अतिरिक्त कठोर कैद दोनो आरोपियो को भुगतने की भी सजा सुनाई।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *