मुख्यमंत्री नि:शुल्क स्वास्थ्य सेवा शिविर का आयोजन चार फरवरी को

Scn news share

बैतूल, – मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी डॉ. प्रदीप मोजेस ने बताया कि 04 फरवरी को मुख्यमंत्री नि:शुल्क स्वास्थ्य सेवा शिविर ट्रामा सेंटर जिला चिकित्सालय में प्रात: 10.00 बजे से आयोजित किया जायेगा। इस शिविर में राज्य बीमारी सहायता निधि के अंतर्गत सभी आयु वर्ग के एवं राष्ट्रीय बाल स्वास्थ्य कार्यक्रम के अंतर्गत 0 से 18 वर्ष तक के मरीजों का चिन्हित बीमारियों के अंतर्गत चिन्हांकन कर उनका प्राक्कलन तैयार कर प्रदेश एवं देश के मान्यता प्राप्त चिकित्सालयों में नि:शुल्क उपचार प्रदाय किया जायेगा।
राज्य बीमारी सहायता निधि के अंतर्गत चिन्हित बीमारियां
कैंसर सर्जरी, कीमोथेरेपी, रेडियोथेरेपी, हृदय शल्य क्रिया, रीनल सर्जरी एवं रीनल ट्रांसप्लाट, घुटना बदलना, हिप ज्वाइंट रिप्लेसमेंट, वक्ष रोग शल्यक्रिया, स्पाइनल सर्जरी, रेटिनल डिटेचमेंट, ब्रेन सर्जरी, न्यूरो सर्जरी, पेस मेकर, वेसक्युलर सर्जरी, कंजेनाईटल मॉलफार्मेशन सर्जरी, एप्लास्टिक एनीमिया, बर्न एण्ड पोस्ट बर्न कॉन्ट्रेक्चर, क्रानिक रीनल डिसिजेस (नेफ्राटिक सिन्ड्रोम, पेरिटोनियल डायलीलिसिस, हीमो डायलीसिस) एवं बांझपन।
राष्ट्रीय बाल स्वास्थ्य कार्यक्रम अंतर्गत चिन्हांकित बीमारियां
जन्मजात दोष (विकृति) – न्यूरल ट्यूब दोष, डाउनसिंड्रोम, कटे होंठ एवं फटे तालू, टैलिपेस (क्लब फुट), डेवलपमेंटल डिस्प्लेसिया ऑफ द हिप, जन्मजात मोतियाबिंद, जन्मजात श्रवणबाधिता, जन्मजात हृदयरोग, रेटिनोपैथी ऑफ प्रीमैच्युरिटी। कमी – रक्तअल्पता विशेष रूप से गंभीर रक्तअल्पता, विटामिन ए की कमी (बीटोट स्पॉट), विटामिन डी की कमी (रिकेट्स), गंभीर तीव्र कुपोषण, गण्डमाला। बचपन के रोग- त्वचा की स्थिति (खुजली, फफूंद संक्रमण और एक्जिमा), ओटाईटिस मीडिया, रूमेटिक हार्ट डिसीज, रिएक्टिव एयर वे डिसीज, दंत क्षय, ऐंठन विकार। विकलांगता सहित विकास में देरी – दृष्टिहानि, हियरिंग इम्पेयरमेंट, न्यूरोमोटर इम्पेयरमेंट, मोटर डिले, संज्ञानात्मक देरी, बोलने में देरी, व्यवहार विकार (ऑटिज्म), सीखने में दोष, एकाग्रता की कमी एवं अतिसक्रियता विकार।
डॉ. मोजेस ने कहा कि आवश्यक दस्तावेज साथ लाएंं जिसमें – आधार कार्ड, समग्र आई.डी., दो फोटो, मूल निवासी प्रमाण-पत्र, बीपीएल कार्ड एवं बीमारी से संबंधित चिकित्सकीय जांच रिपोर्ट सम्मिलित हैं।
उक्त शिविर में शासन द्वारा अधिकृत निजी चिकित्सालयों के चिकित्सकों द्वारा जांच कर प्रकरण बनाया जायेगा एवं इलाज के लिये संबंधित अस्पतालों में भेजने हेतु तारीख दी जायेगी। कार्डियोलॉजी, न्यूरोलॉजी, स्पाईन, केंसर, हेड इंजुरी, हिप एण्ड नी रिप्लेसमेंट, आई, ईएनटी, क्लेफ्ट लिप एवं क्लेफ्ट पैलेट एवं आई.व्ही.एफ बीमारियों हेतु एल.बी.एस. हॉस्पिटल भोपाल, प्लेटिना हार्ट हॉस्पिटल भोपाल, नोबल हॉस्पिटल भोपाल, चिरायु हॉस्पिटल भोपाल, बंसल हास्पिटल भोपाल, श्रीकृष्ण हृदयालय नागपुर, सर्वोत्तम हॉस्पिटल भोपाल, नर्मदा अपना हॉस्पिटल होशंगाबाद, न्यू पाण्डे हास्पिटल होशंगाबाद, ओम हॉस्पिटल भोपाल, नवोदय हास्पिटल भोपाल, पाढर हास्प्टिल बैतूल, सुदर्शन नेत्रालय भोपाल, लेक सिटी भोपाल, भोपाल टेस्टट्यूब बेबी सेंटर भोपाल एवं वर्धमान हॉस्पिटल भोपाल अपनी सेवाएं देंगे

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *