रानीताल में ठंड़ के मौसम में गहराया पेयजल संकट

Scn news share

पेयजल के अभाव में गांव के लड़के रह जाते हैं कुवांरे तो गर्भवती महिलाओं के गिर जाते है गर्भ
रिपोर्ट- छतरपुर से प्रद्युम्न फौजदार,
बडामलहरा/ मौसम भले ही ठंड का हो मगर पेयजल संकट के चलते रानीताल गांव के लोगों को खासी परेशानी का सामना करना पड़ रहा है गांव के सभी हैण्ड़पंप सूख जाने के कारण लोगों को दो से तीन किमी दूर जाकर खेतों के बोर से पानी लाने को मजबूर होना पड़ रहा है यही हाल रहा तो जल्द ही पानी के लिये सिर फुटौब्बल के हालात बनने वाले है।बडामलहरा जनपद पंचायत के गांव रानीताल के निवासी अनन्दी लाल जैन ने बताया कि गांव में साल 2017 के जून माह में तकरीबन 200 फीट गहरा ट्यूबवेल खनन तो ग्राम पंचायत ने करा दिया मगर आठ माह बीत जाने के बाद भी उसमें मोटर नहीं डाली गई इसके लिये ग्रामीणों ने गांव के सरपंच और सचिव से अनेकों बार आरजू मिन्नतें की लेकिन सरपंच और सचिव ने ध्यान नहीं दिया अनन्दी लाल जैन ने बताया कि गांव में एक कुआं है जो पूरी तरह सूख गया है इसके अलावा जल स्त्रोत के नाम पर हैंण्डपंप है जो लंबे समय से या तो खराब पड़े है या जबाब दे गये है लोक स्वास्थ्य यांत्रीकीय विभाग में खराब हैण्डपंप सुधरवाने और पेयजल मुहैया कराने हेतु ग्रामीणों ने शिकायत की लेकिन विभाग ने भी शिकायतों को अनदेखा कर दिया अनन्दी लाल जैन ने बताया कि हालात ये बन गये है कि पेयजल के लिये लोगों को किसानों के खेतों के ट्यूवबेलों का सहारा लेना पड़ रहा है पानी टोह में लोगों को दो से तीन किमी दूर से पानी लाना पड़ रहा है पेयजल संकट के चलते गांव के अधिकतर लड़के ना सिर्फ कुंवारे रह जाते है बल्कि रास्ते ऊबड़ खाबड़ होने के कारण गर्भवती महिलाओं के कई बार गर्भ तक गिर जाते है अनन्दी लाल जैन बताया कि यदि प्रशासन ने शीघ्र ही ग्रामीणों को पेयजल संकट से निजात नहीं दिलायी तो ग्रामीण उग्र आंदोलन का रुख अख्तियार करेंगे।
इनका कहना है-
“दो दिनों में व्यवस्था सुधर जायेगी हालांकि रानीताल में बोर ग्राम पंचायत द्वारा कराया गया है जिसमें मोटर भी पंचायत को डलवाना चाहिये लेकिन पंचायत ने बोर में मोटर नहीं डाली है इसलिये पीएच ईडी ने अनुमति हेतु विभाग को लिखा स्वीकृति मिल जाती है तो विभाग मोटर डलवाकर पेयजल सप्लाई शुरू करा देगा”
रामहेत अहिरवार
उपयंत्री,लोक स्वा.यांत्रीकीय विभाग,बडामलहरा
“रानीताल गांव के ग्रामीण पेयजल संकट से जूझ रहा है यह बात सही है अभी वहां पर हुये बोर का भुगतान. नहीं हो पाया है फिर भी हम जल्द ही व्यवस्था करा देंगे ताकि पेयजल संकट से लोगों को निजात मिल सके”
अजय सिंह,
मुख्य कार्यपालन अधिकारी, जनपद पंचायत, बडामलहरा

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *