वेलेंटाइन डे पर मनाया मातृ-पितृ सेवा दिवस

Share Scn News India

हर्षिता वन्त्रप

सारनी के युवाओं ने पूरे देश एवं उन संगठनों को आइना दिखाया है जो प्रेम दिवस वेलेंटाइन डे का विरोध हिंसात्मक प्रवृति से करते है साथ ही संस्कृति बचाने के नाम पर ढोल पीटने वालों के मुंह पर करारा तमाचा भी जड़ दिया है ।

14 फरवरी को सैकड़ो की संख्या में सारनी के ऊर्जावान युवाओँ ने स्वामी विवेकानंद छात्र विचार मंच के तत्वाधान में सारनी के नये बस स्टैंड के समीप प्रसिद्व श्री कल्याणेश्वर शिव मंदिर सारनी में मातृ-पितृ सेवा व पूजन दिवस मना कर , माता-पिता के चरण पखार फिर एक बार विघ्नहर्ता गणपति की बुद्धिमत्ता को प्रमाणित कर दिया ।

मंच के यश सावरकर एवं भानु साहू ने बताया की 14 फरवरी शाम 7 बजे शिव मंदिर सारनी के प्रांगण में मात्र पितृ सेवा पूजन दिवंस का कार्यक्रम किया गया जिसमे सभी युवाओ ने अपने माता पिता बुजुर्गो और सामान गणमान्य लोगो की आरती उतार कर तिलक किया , उन्हें मिठाई खिलाई व सभी ने बुजुर्गो का आशीर्वाद लिया ।

साथ ही हमारे देश की संस्कृति सभ्यताओ की रक्षा करने व लोगो को हमारी भारतीय संस्कृति के प्रति जागरूक करने का भी संकल्प लिया ।

इस अवसर पर पंडित संतोष शर्मा समाज सेवी रंजीत डोंगरे , दशरत डांगे, ने भारत माता के छाया चित्र का पूजन कर माता पिता एवं बुजुर्गो को तिलक लगा श्रीफल भेट कर सम्मानित किया ।

उन्होंने कहा कि आज का युग तकनीकी युग हैं तकनीकी सारे संसार पर हावी है यहां तक बच्चे भी बेबी ट्यूब तकनीकी से पैदा किये जा रहे है लेकिन क्या माता-पिता को कोई ट्यूब से पैदा किया जा सकता है ।

मोबाइल इंटरनेट आदि में उलझा युवा अपने माता-पिता के साथ होते हुए भी बहुत दूर होते जा रहा है । अपने माता-पिता का सम्मान करना भूल गया है । हमें शाहरख खान , अक्षय कुमार , अमीर , सलमान खान तो याद है , लेकिन हम भूल गए कि ये पावन धरती श्रवण कुमार की है, श्री रामचन्द्र जी की है । स्वामी विवेकानंद जी की है । जिनके लिए माता-पिता के वचन सर्वोपरि थे ।

इसी उद्देश् को लेकर नई युवा पीढ़ी को माता पिता के प्रति आदर सम्मान व अपनी संस्कृति के प्रति जागरूकता लाने हेतु कार्यक्रम का आयोजन किया गया । कार्यक्रम में सैकड़ो की संख्या में युवा उपस्थित थे जिनमें मुख्य रूप से चंद्रशेखर अहिरवार, बबन वासनिक, चेतन साबले, गगन कोसे, मंथन बचले, जयंत यादव, शिवम् ठाकुर, अजय वाण, सुरेश सिंगारे , माधव विश्वकर्मा, मुकेश रजक, भारती रजक, लक्की हथिया, कैलाश मोहबे, रूपलाल साहू, आशीष डोंगरे, अमित सोनी, आदि युवा गण उपस्थित थे ।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!