जनरेटर बंद न करने के चक्कर में सब रजिस्टार देवरी ने अपना आपा खोकर तहसीलदार देवरी को दी धमकी

Share Scn News India

★ भिण्ड का हू याद रखना

शिवांक गुप्ता 【एस सी एन न्यूज़ सागर】
देवरी कला ।

सब रजिस्ट्रार कार्यालय के सामने लगा जरनेटर अनियंत्रित हटाने की बात को लेकर तहसीलदार सी एल वर्मा और सब रजिस्टर आर एन शर्मा जमकर तू तू मैं मैं हो गई और दोनों ने एक दूसरे को धमकियां देते हुए दुर्व्यवहार किया यह मामला SDM से लेकर कलेक्टर तक पहुंच गया। वही दिन भर सब रजिस्ट्रार कार्यालय में रजिस्ट्रियां नहीं की गई, जिससे भूमि का क्रय विक्रय करने वाले दर्जनों पक्षकार परेशान होते रहे। तहसीलदार देवरी सी एल वर्मा क्या कहते हैं:
मंगलवार को दोपहर करीब 3:00 बजे न्यायालय नयाब तहसीलदार महाराजपुर एवं न्यायालय तहसीलदार देवरी मैं विभिन्न प्रकरणों में निर्धारित पेशियों की सुनवाई चल रही थी इसी दौरान सब रजिस्ट्रार कार्यालय के मुख्य गेट पर लगे जनरेटर की तीव्र आवाज के कारण न्यायालीन कार्य में व्यवधान होने के कारण तहसीलदार देवरी द्वारा एक चपरासी को भेजकर सब रजिस्ट्रार कार्यालय का जनरेटर बंद कराने के निर्देश दिए जिस पर सब रजिस्ट्रार आर एन शाक्य द्वारा जनरेटर वंद ना करने की बात कह दी और लाइट होने के बावजूद भी जनरेटर द्वारा ध्वनि प्रदूषण होने पर तहसीलदार सी एल वर्मा ने सब रजिस्ट्रार कार्यालय में पहुंचकर सब रजिस्टर आर एन शाक्य जनरेटर बंद रखने का अनुरोध किया तो तहसीलदार की बात नहीं मानी और कहा कि जनरेटर बंद नहीं होगा जो करना हो कर लो। तहसीलदार द्वारा समझाइश देने के बाद भी सब रजिस्ट्रार शाक्य नहीं माने और दुर्व्यवहार करने लगे यहां तक धमकियां देने लगेगी हम भी डिस्ट्रिक्ट रजिस्टर के बाद सब रजिस्ट्रार हैं हम छोटे मोटे नहीं हैं भिंड मुरैना के हैं। तहसीलदार देवरी ने पूरे मामले की जानकारी कलेक्टर सागर को SDM सागर डिस्टिक रजिस्टर को देते हुए बताया कि 24 अगस्त 2017 को जनरेटर हटाने के लिए जिला पंजीयक द्वारा सब रजिस्ट्रार को निर्देश दिए थे लेकिन सब रजिस्टर नहीं छह माह बाद भी जनरेटर को नहीं हटाया जनरेटर के लिए जगह का निर्धारण भी किया जा चुका था इसके बावजूद भी आए दिन सब रजिस्ट्रार द्वारा लाइट होने के बावजूद भी जनरेटर चला कर ध्वनि प्रदूषण किया जाता है जिससे न्यायालीन काम एवं सूखा राहत का कार्य प्रभावित होता है। वही सब रजिस्टर आर एन शाक्य का आरोप है कि वह रोजाना की तरह ई पंजीयन कार्य कर रहे थे तभी बिजली जाने से जनरेटर चालू करना पड़ा । पहले तहसीलदार देवरी द्वारा चपरासी भेज कर जनरेटर बंद करने के लिए कहां गया लेकिन ई-पंजीयन के कारण हुआ है जनरेटर बंद नहीं कर पाए तब तहसीलदार देवरी श्री वर्मा चौकीदारों को लेकर आए ने कर जनरेटर बंद करवाया और कहने लगेगी जनरेटर पर करवा देंगे जनरेटर चला दो थाने में बंद करवा देंगे। सब रजिस्ट्रार ने SDM देवरी को एवं महा निरीक्षक पंजीयक मध्य प्रदेश को पत्र भेजकर अवगत कराया कि जब तक तहसीलदार द्वारा लिखित में जनरेटर चलाने की अनुमति नहीं देंगे तब तक वह ई पंजीयन का कार्य बंद रखेंगे उन्होंने कहा कि तहसीलदार द्वारा बार-बार जनरेटर बंद करने की बात को लेकर अपमानित किया जाता है।
इनका कहना है:- मेरे संज्ञान में यह मामला आया है मैंने सब रजिस्टर को समझाइश देकर रजिस्ट्री का काम आरंभ करने के निर्देश दिए हैं तथा तहसीलदार और सब रजिस्ट्रार को आपस में बैठाकर सुलह कराने का प्रयास किया जा रहा है । जनरेटर दो यंत्र स्थापित करने के लिए पटवारी को निर्देश दिए हैं ।
-राकेश मोहन त्रिपाठी, SDM देवरी।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!