अतिथि शिक्षकों ने  नियमितीकरण की मांग को लेकर अपने खून से मुख्यमंत्री को लिखा पत्र

बैतूल। कैलाश पाटिल।
आज गुरुवार को अतिथि शिक्षक का धरना विगत बीस दिनों से प्रारंभ है। बैतूल जिले के अतिथि शिक्षक एवं शिक्षिकाओं ने अपने खून से मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान के नाम नियमितीकरण को लेकर पत्र लिखा। अतिथि महिलाओं ने अपने मामा से यह गुहार लगाई की और कितना शोषण हम अतिथि शिक्षकों का करोगे। मात्र 100और 150 रूपरेखा में इस महंगाई के दौर में गुजर बसर होना मुश्किल है। अतिथि शिक्षकों को मनरेगा मजदूरो से भी कम वेतन दिया जा रहा है। जिलाध्यक्ष केसी पवार ने कहा कि यदि प्रदेश सरकार दो दिनों में अतिथि शिक्षकों के पक्ष में कोई सकारात्मक निर्णय नहीं लेती है तो 24 और 25 फरवरी को पूरे 51जिले के हजारो अतिथि शिक्षक भोपाल की ओर कुच करेंगे तथा भोपाल के शाहजहानी पार्क में विशाल आंदोलन एवं धरना प्रदर्शन करने को बाध्य होंगे। 22 फरवरी को बैतूल जिले के अतिथि शिक्षको ने अपने खून से मुख्यमंत्री को पत्र लिखा गया। जिसे कलेक्टर को रैली के माध्यम से सौंपा गया। इस धरना प्रदर्शन में बैतूल जिले के सैकड़ों अतिथि शिक्षक एवं शिक्षिकाऐ उपस्थित थे

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!