राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ वाईकर दादा को श्रद्धांजलि दी

हर्षिता वंत्रप

सारणी सरस्वती शिशु मंदिर में गई जिसमें उन्हें करीब से जानने वाले स्वयंसेवक ने उनसे जुड़े अनुभव साझा किए कार्य क्रम में उपस्थित माननीय जिला संघचालक श्री अरुण जी द्विवेदी ने एवं श्री बी डी तिरपाठी जी ने उनके जीवन पर प्रकाश डाला ।

स्वर्गीय श्री माधव भालचंद्र जी वाईकर का जन्म 22मई 1930को हुआ वे मूलतः नागपुर में बाल्य काल से स्वयंसेवक बने नागपुर में रेशमबाग शाखा से जो संस्कार उन्होंने ग्रहण किए वे जीवन पर्यन्त रहे संघ की दृष्टि से बारासिवनी बालाघाट आदि तहसीलों में तहसील कार्यवाह के पद पर रहे विभिन्न प्रकार के दायित्वों का निर्वहन करने के बाद सारणी में तहसील संघचालक के दायित्व का निर्वहन किया आपका जीवन पूर्ण स्वयंसेवक का रहा आप वृद्ध अवस्था तक आपकी शाखा नियमित रूप से चलती रही 88 वर्ष की आयु पूर्ण कर 9 मार्च 2018
को वे पंचतत्व में विलीन हो गये राष्ट्र वादी विचारधारा से ओतप्रोत इनका सम्पूर्ण जीवन राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ से जुड़ा रहकर सभी स्वयंसेवकों के लिए आदर्श प्रस्तुत करता है ।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!