प्रभारी मंत्री श्री लालसिंह आर्य ने जनसंपर्क कार्यालय भवन के निर्माण की प्रगति की जानकारी ली

हर्षिता वंत्रप

निर्माण कार्य समय-सीमा में गुणवत्ता के साथ पूरे करने के निर्देश

बैतूल –

जिले के प्रभारी एवं प्रदेश के नर्मदा घाटी विकास (स्वतंत्र प्रभार), सामान्य प्रशासन, विमानन, आनंद एवं आदिम जाति कल्याण, अनुसूचित कल्याण मंत्री श्री लालसिंह आर्य ने शनिवार को जिला मुख्यालय पर विभिन्न योजनाओं एवं विभागों के अधीन 50 लाख एवं उससे अधिक राशि के निर्माण कार्यों की प्रगति की समीक्षा की। इस दौरान उन्होंने निर्माण एजेंसी से जुड़े अधिकारियों को समस्त संचालित निर्माण कार्य गुणवत्ता के साथ समय-सीमा में पूर्ण करने के निर्देश दिए।

समीक्षा के दौरान प्रभारी मंत्री द्वारा जिला मुख्यालय पर निर्माणाधीन जनसंपर्क कार्यालय भवन के निर्माण के प्रगति की भी जानकारी ली गई एवं समय-सीमा में पूर्ण करने के निर्देश दिए। बैठक में सांसद श्रीमती ज्योति धुर्वे, विधायक बैतूल श्री हेमन्त खण्डेलवाल, विधायक मुलताई श्री चन्द्रशेखर देशमुख, विधायक घोड़ाडोंगरी श्री मंगलसिंह धुर्वे, विधायक भैंसदेही श्री मंगलसिंह धुर्वे सहित जिला पंचायत अध्यक्ष श्री सूरजलाल जावलकर, कलेक्टर श्री शशांक मिश्र, पुलिस अधीक्षक श्री डीआर तेनीवार, सीईओ जिला पंचायत सुश्री शीला दाहिमा एवं निर्माण कार्यों से जुड़े अधिकारी मौजूद थे।

बैठक में प्रभारी मंत्री ने कहा कि स्वीकृत निर्माण कार्यों के प्रारंभ करने में आने वाले छोटे-मोटे अवरोधों को तत्काल दूर किया जाए एवं शीघ्रता से निर्माण कार्य प्रारंभ किए जाएं। उन्होंने कहा कि सडक़ एवं पुल निर्माण कार्य की गुणवत्ता पर भी विशेष ध्यान दिया जाए। गुणवत्ता का स्तर कमजोर पाया जाने पर संबंधित के विरूद्ध कार्रवाई की जाएगी। साथ ही यदि कोई पुल टूटता है या बाढ़ के पानी में बहता है तो जिम्मेदार अधिकारी के विरूद्ध पुलिस में प्रकरण दर्ज कराया जाएगा। उन्होंने कार्य में लापरवाही करने वाले ग्राम पंचायत सचिवों के विरूद्ध भी यथोचित कार्रवाई करने के निर्देश दिए। बैठक में प्रभारी मंत्री द्वारा परियोजना क्रियान्वयन इकाई के अधीन निर्माणाधीन छात्रावास एवं स्कूल भवनों की कार्यवार जानकारी ली। इसी तरह जिला मुख्यालय पर निर्मित हो रहे ओपन ऑडिटोरियम निर्माण की भी समीक्षा की। इसी तरह बैतूल में निर्माणाधीन 152 बिस्तरीय अस्पताल भवन, संयुक्त कार्यालय भवन, न्यायालय कक्ष एवं न्यायाधीशों के आवास के निर्माण की प्रगति की जानकारी प्रभारी मंत्री द्वारा संबंधित अधिकारियों से ली गई एवं इन कार्यों को समय-सीमा में पूर्ण कराने के निर्देश दिए गए। जल संसाधन विभाग के अधीन निर्माणाधीन बांधों एवं जलाशयों के निर्माण में भी कोई विलम्ब नहीं किए जाने के लिए विभागीय अधिकारियों को पाबंद किया गया। प्रधानमंत्री ग्राम सडक़ योजना के तहत निर्माणाधीन सडक़ों की गुणवत्ता पर भी विशेष ध्यान देने के निर्देश दिए गए। ग्रामीण यांत्रिकी सेवा विभाग के तहत संचालित कार्यों की प्रभारी मंत्री द्वारा समीक्षा की गई। रोड डेवलपमेंट कार्पोरेशन सहित जिले के नगरीय क्षेत्रों में संचालित कार्यों पर भी प्रभारी मंत्री ने विस्तार से चर्चा की। प्रधानमंत्री आवास योजना के तहत भी हितग्राहियों को शीघ्र आवास उपलब्ध कराने के श्री आर्य द्वारा निर्देश दिए गए। इसके अलावा जिले के नगरीय क्षेत्रों में संचालित अन्य विकास कार्यों की भी श्री आर्य द्वारा बारीकी से पड़ताल की गई।
पेयजल के संबंध में निर्देश
प्रभारी मंत्री द्वारा इस बैठक में लोक स्वास्थ्य यांत्रिकी विभाग के कार्यपालन यंत्री को निर्देश दिए गए कि आगामी ग्रीष्म काल के दौरान ग्रामीण क्षेत्रों में पेयजल की पर्याप्त उपलब्धता सुनिश्चित हो, वे इस बात के लिए सजग रहें। विभाग इस बात के लिए पूरी तरह पाबंद रहे कि किसी भी स्थान पर पेयजल संकट की स्थिति निर्मित न हो।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!