दुष्कर्म पीड़िता की शिकायत नही हुई दर्ज, टीआई के खिलाफ जन आक्रोश

Share Scn News India

छिन्दवाड़ा – मध्यप्रदेश सरकार की मजनू ,गुंडागर्दी की मुहीम हुयी फ़ैल जिसका अंदाज छिंदवाड़ा के जुन्नारदेव तहसील के दमुआ नगर पालिका में आज देखा गया विगत दिनों पहले आदिवासी युवती के साथ दुष्कर्म की रिपोर्ट को 26 घंटे बीत जाने के बाद एफआरआई लिखी गयी एक नाबालिक युवती का शारीरिक शोषण होने के बाद भी दमुआ थाना प्रभारी द्वारा उस पीड़िता की रीपोर्ट को लिखने में इतनी देरी क्यों की गयी सोच का विषय है ।

उसके बाद पीड़िता के परिवार वालो को घुमरह कर पीड़िता को पुलिस टॉलम टोल करते रही जिसका विरोध सगा समाज के आदिवासियों ने आज 24 मार्च को दमुआ के बीएसएनल आफिस के बाजु में बने भवन से रैली निकालकर दमुआ थाना प्रभारी को तत्काल हटाने के लिए राज्यपाल के नाम तहसीलदार उइके जी को ज्ञापन सौपकर उचित कारवाही करने की मांग करते हुए दीपक यादव थाना प्रभारी दमुआ के नाम से मुर्दाबाद के नारे लगाये गए और तत्काल हटाने की बात पर अड़े रहे तहसीलदार और थाना दमुआ के पुलिस द्वारा उचित जांच करने का आवशासन मिलने के बाद सगा समाज आदिवासियों द्वारा आंदोलन को खत्म कर दिया गया सगा समाज के समर्थन में बैतूल जिले के सारनी से धरना प्रदर्शन में सामिल होने के लिए पहुचे एड.राकेश महाले ने बताया की आज मध्यप्रदेश में रामपाल के पुत्र के अत्याचार के कारण रायसेन के उदयपुर में विगत दिनों पहले एक 30 वर्षीय युवती ने आत्महत्या ली थी जिसका आरोप मध्यप्रदेश में मंत्री पुत्र पर हत्या का मामला पुलिस द्वारा दर्ज नही किया गया और युवती के परिवार वालो के ऊपर जबरन दबाओ बनाया जा रहा है इससे अंदाज लगाया सा सकता है की प्रदेश में बैठी सरकार की मानसिकता ठीक नही इसलिए अपराधियो का हौसला बढ़ते जा रहा है जिसका विरोध सगा समाज के लोगोने किया और पुलिस प्रशासन की कार्य सैली पर भरोसा नही होने की बात की

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!