2 अप्रैल को भारत बंद और आंदोलन प्रदर्शन हेतु 28 मार्च को बैठक

Scn news india share

माननीय सुप्रीम कोर्ट द्वारा अनुसुचित जाति एवं अनुसुचित जनजाति एक्ट को अप्रभावित बनाने के फैसले से दोनों वर्गों के लोगों को प्रताड़ना का शिकार होना पड़ेगा। पुरे भारत में इस फैसले को लेकर दोनों वर्गों में काफी भंय और आक्रोश व्यक्त हो रहा है समाजिक कार्यकर्ता राकेश महाले मिश्रालाल परते प्रभु मस्तकर राजु मसकोले सुनिल सरियाम दिपक पाटील अशोक उईके सुनील भलावी ने बताया कि आगे की रणनीति और आंदोलन को लेकर समाज की एक अतिआवश्यक बैठक का आयोजन किया गया है जिसमें 2 अप्रैल को भारत बंद और आंदोलन प्रदर्शन होगा। अत सभी अनुसुचित जाति अनुसुचित जनजाति के नेता समाजिक कार्यकर्ता समाजिक संगठनों कर्मचारियों अधिकारी संगठनों छात्र संगठन युवा वर्ग और महिला संगठनों को एक साथ इस मुद्दे को लेकर आगे की कार्रवाई के लिए बगडोना बस्ती के सामुदायिक भवन में दिनांक 28 मार्च दिन बुधवार को समय सुबह 10.30 बजे बैठक रखी गई है जिसमें अधिक से अधिक संख्या में उपस्थित होकर संगठनों और संगठनों के प्रमुखों से उपस्थित होने की अपील की गई है

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!