जलसरंक्षण के लिये युवाओं ने उठाया कदम।

Scn news india share

नरसिंगढ से शैलेष श्रीवास्तव कि रिपोर्ट

नरसिहगढ-गर्मी कि शुरुआत होते ही नरसिंहगढ के युवा वर्ग ने जल कि कमी को देखते हुये जलसरंक्षण के लिये मेहनत शुरु कर दी है। नगर मे प्राचीनकाल से बनी तुल्लू झिरिया जो अपने आप हमेशा एक गति मे बहती रहती है। नगर के लोग तुल्लू झिरिया के सहारे अपना जीवन जी रहे है। भीषण गर्मी कि चपेट मे जहाँ लोग पानी कि बूँद को मोहताज हो जाते है। ऐंसी स्थिति मे तुल्लू झिरिया लोंगो का सहारा बनती है। और पीने का शुद्ध पानी उपलब्ध कराती है। तुल्लू झिरिया मे हमेशा जल कि धारा एक गति मे बहती रहती है। यहाँ बाबडी मे जल हमेशा एक स्तर मे भरा रहता है। बाबडी मे नगर के ही लोगों ने गंदा कचरा डालना शुरु कर दिया था जिससे जल कि धारा बंद हो गयी थी। परन्तु नगर का युवा वर्ग जब आगे आकर बाबरी कि गंदगी को बाहर किया तो जल कि धारा पुन:चालू हो गयी है।अब युवा वर्ग बाबरी कि ऊपरी सतह मे जाली लगाकर उसका सरंक्षण करना चाहता है। जिससे हमेशा आम लोगों को बूंद बूँद पानी के लिये मोहताज न होना पडे ।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!