एस सी एस टी एक्ट को पुनः लागू करने मूलनिवासी संघ ने सौपा ज्ञापन

Scn news india share

विकास परिहार

देवरी कला-विगत दिनों सुप्रीम कोर्ट के दोवारा sc st एक्ट को अशरहींन करने बाले जजमेंट के आते ही पूरे देश में अनुसूचित जाति एबम अनुसूचित जनजाति के समुदायों में आक्रोश व्याप्त है जिसके चलते आज 2 अप्रेल को सम्पूर्ण भारत वंद का आह्वान अनेकों दलित शोषित संगठनों के दोवारा किया गया था।इसी उपलक्ष्य में देवरी नगर में मूलनिवासी संघ के वेनर तले महामहिम राष्ट्रपति के नाम एस डी एम देवरी को एक ज्ञापन प्रेसित किया गया।ज्ञापन में उल्लेख किया गया कि पूरे देश में जातीय आधार पर sc st वर्ग के गरीब लाचार वा कमजोर लोगों के ऊपर मनुवादी लोग सदियों से अत्याचार करते आये हैं और यह शिलशिला पूरे देश अव भी बड़े पैमाने पर जारी है जातीय आधार पर सदियों से किये जा रहे अत्याचार पर रोकथाम के लिए तत्कालीन केंद्र सरकार ने अनुसूचित जाति जनजाति निवारण अधिनियम 1989एक्ट लागू किया था।उपरोक्त एक्ट लागू होने के बाद भी सच्चाई यह है कि इन वर्गों के ऊपर जातीय आधार पर शोषकों दोवारा जब जुल्म और अत्याचार किया जाता है तो अधिकांश मामलों में कोई विरोध नही कर पाता है।

जिससे भयवीत होकर इस वर्ग का पीड़ित व्यक्ति अत्याचार सहकर भी चुपचाप घर में बैठ जाता है यदि हिम्मत करके पुलिस थाने में रिपोर्ट दर्ज कराने जाता है तो साधारणतया पुलिस उसकी रिपोर्ट दर्ज nahi करती वल्कि उसे डरा धमकाकर भगा दिया जाता है yadi मिन्नतें करने पर रिपोर्ट दर्ज कर भी लेते हैं तो sc st एक्ट नही लगाते।दूसरी ओर इन वर्गों के पीड़ित व्यक्ति की तत्काल रिपोर्ट दर्ज ना करने अपराधी को अग्रिम जमानत का लाभ देने और अपराधी की गिरफ्तारी वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक की अनुमति से करने आदि के आदेश पारित कर दिये जाने से इन वर्गों के ऊपर और अधिक अत्याचार निश्चित रुप से वड़ेगे तथा पूरे देश में भयावह इस्थिति उत्पन्न हो जायेगी।उपरोक्त गंभीर मामले में महामहिम राष्ट्रपति महोदय से अपील की गई है कि आप उक्त मामले में तत्काल हस्तक्षेप करते हुए sc st एक्ट1989 को पूर्व की भांति लागू कराने की कृपा करें।ज्ञापन देने वालो में मूलनिवासी संघ के जिला अध्यक्ष अरविन्द लोधीअनुसूचित जनजाति के कमलेश उइके वीरेंद्र कुमार जाटव राजेंद्र कुमार वसंत जाटव सोनू अहिरवार नर्मदा प्रयास वाल्मीकि परशराम अहिरवार रीतेश वाल्मीकि राहुल जाटव रावण किशोर कुमार गोविंद जाटव गुलाब जाटव जितेंद्र अहिरवार वलवंत गोंड सहित सैकड़ों की संख्या में लोग सम्मलित रहे

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!