पहले बन्द का एलान फिर दुकाने खोलने के लिए की मिन्नते…दर्ज मामला भी होगा वापस

Share Scn News India

◆रातों रात व्यापारियों ने बन्द का फैसला लिया वापस ,
◆सूत्रों की खबर बैतूल के दवाब में व्यापारियों ने बदला फैसला,कई व्यापारियों में मतभेद

दुर्गाप्रसाद जौंजारे

आमला।एस टी एस सी एक्ट में सुप्रीम कोर्ट द्वारा किए गए संसोधन के खिलाफ दलित संगठनों द्वारा बीते 2 अप्रैल को बुलाए गए भारत बन्द के दौरान जब यहा संगठनों द्वारा निकाली गई रैली और जबरन तथा अभद्रता पूर्वक दुकानें बंद कराने पर पुलिस की खामोशी से नाराज व्यापारियों ने पुलिस व्यवस्था से नाराज होकर मंगलवार को शहर बन्द का एलान तो कर लिया,किन्तु चमत्कारी ढंग से सुबह होते ही व्यापारियों संघ आमला द्वारा बन्द का एलान वापस ले लिया ।

हालांकि सोमवार को नाराज व्यापारियों ने थाने का मानो घेराव सा कर अज्ञात लोगों के खिलाफ 504 के तहत मामला भी दर्ज करा दिया था।महज एक ही रात में जिस ढंग से व्यापारी संघ आमला ने अपना फैसला वापस लिया ,उस पर संघ के ही कई व्यापारियों ने सवाल भी उठाए है।
सोमवार की दोपहर व्यापारी संघ आमला द्वारा व्यवस्था से नाराज होकर जिस तरह से बन्द का फैसला लिया गया ,मंगलवार की सुबह होते होते ये फैसला तो वापस लिया ही साथ ही सोमवार को अज्ञात लोगों के खिलाफ दर्ज मामला भी वापस ले लिया है।व्यापारी संघ की इस हड़बड़ी में शहर के ज्यादातर व्यापारी असमंजस की स्थिति में रहे,इस दौरान दोपहर बाद तक कई दुकानें बंद ही रही,जैसे जैसे अन्य व्यापारियों तक बन्द वापसी की सूचना पहुची व्यपारी अपनी दुकानें खोलते रहे।हालांकि इस दौरान कई व्यापारियों में मतभेद की खबरे भी सामने आई है।बहरहाल आमला व्यापारी संघ का सोमवार को तेजी से चढ़ा पारा मंगलवार की सुबह उतनी ही तेजी से उतर गया है ।

*दोंनो पक्षों ने बैठकर की चर्चा*:-इस दौरान व्यापारी संघ आमला और बोड़खी के व्यपारियो की एक बैठक के बाद सर्वसम्मति से स्थानीय बोद्धस्ट महासभा ,मैत्रेय समिति के सदस्यों से भी चर्चा कर शहर का माहौल सोहाद्रपूर्ण बनाएं रखने के लिए जोर दिया गया,इस दौरान सोमवार का फैसला तो वापस लिया ही साथ ही सोमवार अज्ञात लोगों के खिलाफ दर्ज मामले को व्यापारी संघ वापस लेगा,इस मौके पर बोद्धस्ट महासभा के शोष राव चौकीकर ,शिव कुमार गुजरे ,मनोज मालवे विनोद नागले, सहित अन्य लोग उपस्थित थे साथ ही व्यापारियों में मदनलाल गुगनानी जयंत सोनी ,मुकेश राठौर,विक्की गुगनानी सहित व्यापारी भी उपस्थित थे।

उधर व्यापारी संघ आमला द्वारा लिए गए बन्द के फैसले को यकायक वापस लिए जाने के मामले पर शहर में कई तरह की चर्चाएं हो रही है,कोई इसे बैतूल के दबाव में लिया फैसला बता रहा है,तो कोई इसे व्यापारियों की नाकामी भी कह रहा है,जो भी पर किन्तु शहर के सौहाद्र के लिए दोनो पक्षों की पहल को सराहना भी मिल रही है।इस बारे थाना प्रभारी एस एस चौहान ने बताया है कि अभी तक व्यापारी संघ द्वारा लिखत में हमें कोई सूचना नही मिली है,उनकी आपस मे ही मसले को लेकर सहमति बनी है,शहर के सौहाद्र को कायम रखना ही पुलिस की जिम्मेदारी जिसके लिए हम प्रतिबद्ध है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!