आमला रेलवे में ठेका मजदूरों के शोषण पर सी आर एम एस नाराज रेलवे बोर्ड के सामने उठाएंगे आवाज

Share Scn News India

दुर्गाप्रसाद जौंजारे
आमला।आमला रेलवे के विभिन्न विभागों में ठेके पर काम कर रहे दर्जनों मजदूरों के साथ ठेकेदार द्वारा की जा रही आर्थिक अनियमितता का मामला एक बार फिर जोड़ पडकता जा रहा है।मजदूरों के साथ ठेकेदार और रेलवे के कथित तौर पर सुपरवाइजर की मिली भगत से वेतन विसंगति की लगातार खबरे बाहर आ रही है।हालांकि इस मामले पर पहले भी कई बार यहाँ कार्यरत मजदूर अपनी आवाज उठा चुके है।किन्तु मजदूरो की मांग पर कोई ध्यान नही दिया गया।
गौरतलब है कि रेलवे के ज्यादातर विभागों के नियमित कर्मचारियों की छठनी पर ठेका मजदूरों से रेलवे काम करवा रही है,जैसा की जानकारी है ,की इस समय रेलवे के लगभग हर विभाग में ठेका पध्दति लागू कर दी गई है,जिसमें ठेकेदार अपने मजदूरों से काम करवाता है।बताया गया है कि आमला रेलवे में ऐसे ही कई विभागों के अंतर्गत काम कर रहे दर्जनों मजदूरों को मिलने वाली मजदूरी मानक आधार पर नही दी जाती है,केवल कागजों पर हस्ताक्षर करवाकर मजदूरों को मिलने वेतन दिया जा रहा है।मजदूरों द्वारा बताया गया है कि नियमो के अनुसार अकुशल मजदूरों को प्रतिदिन 436 और कुशल मजदूरों को 506 रुपए प्रतिदिन भुगतान बैंक के द्वारा किया जाना है,किन्तु ठेकेदार द्वारा मजदूरों को नगद भुगतान किया जाता है,इसके अलावा मजदूरों से कागजो पर हस्ताक्षर करा लिए जाते है।इस बारे में नेशनल रेलवे मजदूर संघ के सचिव आर के वर्मा ने बताया कि बीते लंबे समय से इस बारे में मजदूरो की शिकायत आ रही है।यूनियन पहले भी इस मुद्दे पर आवाज उठा चुकी है,हम जल्द इस मामले को रेलवे बोर्ड के सामने भी रखेगें।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!