राजधानी में 63 निजी स्कूलों की मान्यता समाप्त

भोपाल – राजधानी के 63 निजी स्कूलों में शौचालय की कमी के कारण जिला शिक्षा अधिकारी ने कार्रवाई करते हुए मान्यता समाप्त कर दी है। इन स्कूलों में बुनियादी सुविधाओं की कमी पाई गई है। इन स्कूलों में सबसे बड़ी कमी सामान्य व विकलांग बच्चों के लिए शौचालय की व्यवस्था न होना, प्रशिक्षु शिक्षकों की कमी, पीने के पानी की व्यवस्था न होना, अग्निशमन यंत्र की व्यवस्था न होने के कारण स्कूलों की मान्यता समाप्त की गई है। इस संबंध में जिला शिक्षा अधिकारी ने स्कूलों की लिस्ट भी जारी कर दिया है।
गौरतलब है कि शिक्षा का अधिकार अधिनियम (आरटीई) के तहत मापदंड पूर्ति न करने पर यह कार्रवाई की गई है। सभी स्कूलों ने नवीन मान्यता व नवीनीकरण के लिए ऑनलाइन आवेदन किया था। आवेदन में दर्शाई गई जानकारी का भौतिक सत्यापन एवं शाला का स्थल निरीक्षण किया गया। इसमें मूलभूत सुविधाओं में कमी पाई गई, जिससे इन स्कूलों के खिलाफ कार्रवाई की गई है।
63 में 21 मदरसा बोर्ड के स्कूल शामिल
आरटीई के मापदंड का पालन नहीं करने वाले 63 स्कूलों में से 21 मदरसा बोर्ड के स्कूल शामिल हैं, जिनकी मान्यता समाप्त की गई है। साथ ही कुछ मिशनरी स्कूल का नाम भी शामिल हैं ।

इनका कहना है –

63 निजी स्कूलों में सुविधाओं की कमी
जिले के 63 निजी स्कूलों में बुनियादी सुविधाओं की कमी पाई गई। इसमें सबसे बड़ी कमी प्रशिक्षु शिक्षक और शौचालय की है। जिस कारण इनकी मान्यता समाप्त की गई है ।

धर्मेन्द्र शर्मा, जिला शिक्षा अधिकारी

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!