फुटेरा कला- अखंडता एकता का प्रतीक है महारुद्र यज्ञ

Share Scn News India

सौरभ शुक्ला

* एकादस कुंड आत्मक महारुद्र यज्ञ में श्रद्धालुओं का तांता
फुटेरा कला- जिले के बकायन गांव में साध्वी कुंती देवी के आश्रम में एक आदर्श कुंड आत्मक महारुद्र यज्ञ का आयोजन किया जा रहा है जिसमें श्री राम अखंड धुन शिवलिंग निर्माण एवं यज्ञ में 61 जोड़ों द्वारा आहूतियां दी जा रही हैं श्रद्धालुओं द्वारा अल सुबह से देर शाम तक यज्ञ की परिक्रमा की जा रही है शाम 6:00 बजे जगतगुरु रामानंदाचार्य महाराज द्वारा प्रवचन किए गए साध्वी कुंती देवी द्वारा जगत गुरु की चरण वंदना की गई जगद्गुरु रामानंदाचार्य ने यज्ञ कथा का महत्व बताते हुए कहा कि महारुद्र यज्ञ देश की अखंडता एकता बनाए रखने में महायज्ञ का आयोजन किया जाता है जिसमें सभी संप्रदाय के लोगों को एकता की शिक्षा लेना चाहिए!

नारी का बताया महत्व- चित्रकूट के परम धाम मैं एक नारी ने ही ब्रह्मा विष्णु महेश को बालक बनाया ऐसी गरिमामई नारियां भारत देश की वसुंधरा पर जन्म लेती हैं धन्य है वह देश जहां नारियां पतिव्रत धर्म का पालन करती है नारी या अन्य देशों की तरह परिवहन नहीं करती संत शिरोमणि भारत ने भी भारतीय नारी से जन्म लिया अहंकारी बेटा अनर्गल बर्ताव कर सकता है परंतु करुणामई मां उसका त्याग नहीं करती ऐसी नारियों का सभी को सम्मान करना चाहिए !
सोमवार को होगी पूर्णाहुति एवं भंडारा- रामानंदाचार्य ने कहा कि सोमवार को सुबह पूर्णाहुति के बाद भंडारा होगा उन्होंने कहा कि साध्वी कुंती देवी की वर्षों की तपस्या का फल है कि यज्ञ निर्विघ्न संपन्न हो गया कार्यक्रम में बड़ी संख्या में लोग उपस्थित रहे फुटेरा कला से सौरभ शुक्ला की रिपोर्ट

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!