पूर्णाहुति के बाद हुआ विशाल भंडारा

फुटेरा कला से सौरभ शुक्ला की रिपोर्ट

एकादशी कुंड आत्मक महारुद्र यज्ञ निर्विघ्न संपन्न हुआ भंडारा पार्थिव शिवलिंग विसर्जन पूर्णाहुति एवं आचार्यों की विदाई हुई
फुटेरा कला- जिले के बकायन गांव में साध्वी कुंती देवी के आश्रम में लगातार 11 दिन तक चले एकादश कुंड आत्मक महारुद्र यज्ञ के समापन बाद पार्थिव शिवलिंग विसर्जन पूर्णाहुति विशाल भंडारे के साथ यज्ञाचार्य की विदाई हुई सरपंच अशोक पटेल ने बताया कि विदाई के पूर्व ग्राम के कई लोगों ने जगत गुरु रामानंदाचार्य से दीक्षा लेकर चरित्रवान जीवन जीने का संकल्प लिया!

यज्ञ से मिलती है खुशहाली- जगद्गुरु रामानंदाचार्य ने बताया कि सृष्टि के आदि काल से ही यज्ञ अनुष्ठान होते आए हैं जिससे मानव जीवन में खुशहाली आती है वातावरण साफ शुद्ध हो जाता है बादल बनते हैं अच्छी वर्षा होती है यज्ञ की परिक्रमा करने से कई पापों से मुक्ति मिल जाती है ऐसे आयोजन से सामाजिक बुराइयां मिटती है इसमें जाति या संप्रदाय से कोई लेना देना नहीं होता आपसी प्रेम बढ़ता है विश्व का कल्याण होता है एकता एवं अखंडता बनी रहती है!
अमर शहीदों को याद किया- किसानों की खुशहाली जन जन कल्याण एवं अमर शहीदों को याद कर यज्ञ में आहुतियां दी गई जिसमें पूर्णाहुति में हजारों लोग सम्मिलित हुए जिसके बाद महिलाओं एवं पुरुषों को पंक्तिबद्ध सम्मान सहित भंडारे से भोजन करवाया जो देर रात तक चलता रहेगा!
सोमवार के मध्य रात्रि तक रामलीला का मंचन चलता रहेगा मंगल की सुबह यज्ञाचार्य सहित रामलीला की विदाई होगी साध्वी कुंती देवी एवं कमेटी में उपस्थित ग्राम के बटियागढ़ फुटेरा कला मेनवार पिपरिया चोपड़ा सुमेर मोठा लोकायन पिपरौदा सहित सभी ग्रामों के श्रद्धालुओं का अभिवादन कर धन्यवाद दिया एवं सभी के सहयोग के लिए आभार व्यक्त किया!

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!