मई के अंतिम सप्ताह तक पाथाखेडा की आमजनता को बिजली समस्या से निजात

बैतूल/सारनी। कैलाश पाटिल –

कोयलांचल क्षेत्र पाथाखेड़ा में पिछले कई वर्षों से बिजली पानी की समस्या बड़ी विकराल रूप में व्याप्त है। जिसको लेकर कई बार आम जनता द्वारा जन आंन्दोलन जनहित में किए गए। लेकिन उनके नतीजे हमेशा शून्य ही साबित हुए। उसके बाद एक आमसभा को संबोधित करने जब मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान स्वयं पाथाखेड़ा नगरी पहुंचे थे तो उस दरम्यान उन्होंने पाथाखेडा की आमजनता को आश्वस्त किया था कि पाथाखेड़ा की जनता को बिजली और पानी की समस्या चुनाव संपन्न होते निराकरण किया जाएगा। जिसके बाद नगर पालिका की परिषद बनते ही तत्काल पूर्व नगरपालिका अध्यक्ष मीनाक्षी किशोर मोहबे ने मुख्यमंत्री अधोसंरचना योजना के तहत बिजली कनेक्शन तथा मुख्यमंत्री जल आवर्धन की योजना बनाई।

जिसके बाद कुछ माह पूर्व पाथाखेड़ा तथा शोभापुर क्षेत्र की जनता के लिए बिजली विस्तार का कार्य प्रारंभ किया गया था। परन्तु बिजली विस्तार योजना के तहत खंभे खड़े करने के बाद काम रुक गया था। बताया जाता है कि ठेकेदार को नुक्सान हो रहा था इसलिए वह कार्य में विलंब कर रहा था। क्योंकि एल्युमीनियम का मूल्य पिछली बार की अपेक्षा इस बार ज्यादा पाया गया। इसके अलावा ट्रांसफार्मर की कीमत तीस हजार से बढ़कर 45000 हजार रुपये हो गयी। किन्तु इसके बावजूद पिछले दो दिनों से बिजली विस्तार का कार्य प्रांरभ हो गया है। खंभों पर तार बिछाने के अलावा ट्रांसफार्मर भी लगाया जा रहा है। बिजली विस्तार के सुपरवाइजर ने बताया है कि शादियां होने के कारण मजदूरों ने छुट्टी ले रखी थी इसलिए काम रोका गया था क्योंकि काम करने वाले मजदूर नहीं मिल रहे थे। लेकिन अब मजदूर मिल गए हैं और बिजली के विस्तार कार्य अब युद्ध स्तर पर किया जा रहा है। बिजली के खंभों पर लगभग कुल 58 ट्रांसफार्मर पाथाखेडा तथा शोभापुर कालोनी में लगाना है। अभी तक केवल 28 ट्रांसफार्मर दो दिन में लगाए गए हैं। शेष जल्द ही लगा दिए जायेगे। सब कुछ ठीक रहा तो मई के अंतिम माह तक बिजली सुचारु रूप से आम जनता तक पहुंच जाएगी। जहाँ तक आम जनता को बिजली देने की बात है। वह मध्यप्रदेश विद्युत वितरण विभाग व्दारा लोगों के घरों में बिजली देने का कार्य करेगी। हमारा कार्य केवल खंबे और ट्रांसफार्मर में बिजली देना है। बाकी कार्य मध्यप्रदेश विद्युत
वितरण कंपनी का है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!