मकान जला महुए का झाड़ बना परिवार का आशियाना

निखिल सोनी आठनेर विक्रम राठौर

आठनेर थाना क्षेत्र अंतर्गत पानबेहरा
गांव में एक मकान में आग लग गई थी। इससे मकान के साथ गृहस्थी का पूरा सामान और अनाज भी जल गया। एक आदिवासी महिला अपने 4 बच्चों के साथ पेड़ के नीचे आशियाना बनाकर तीन दिनो से रह रही है ।महुआ का पेड़ ही उनका मकान बन गया है। यह घटना थाना क्षेत्र के पानबेहरा गांव में की है ।पान बेहरा गांव के फूलेसिह पेन्द्राम परिवार सहित खेत मे में बने मकान में रहता था।12 मई को आग लगने से मकान पूरी तरह जल गया । इसमें अनाज गृहस्थी के सामान कपड़े भी जल गए ।

आग से बची कुछ सामग्री के साथ महिला गीता पेन्द्राम अपने 4 बच्चों के साथ तीन दिनों से पेड़ के नीचे रह रही है ।जानकारी मिलने पर पटवारी सत्य पाल मोहने भी मौके पर पहुंचे थे उन्होंने भी पंचनामा बनाया है। आठनेर से 15 किलोमीटर दूर हिडली के समीप पानबेहरा गांव है यहां पर एक महिला गीताबाई अपने बच्चे अजय पूजा सावन संगीता के साथ पेड़ के नीचे रहकर गृहस्ती चला रही है ।। जनपद अध्यक्ष रामचंद्र इरपाचे सरपंच मनौती आनंद धुरवे ने बताया कि जानकारी मिलने पर महिला को समझाइश देने. के लिए गए थे। परिवार पेड़ के नीचे रहा है ।प्रशासन और समाज द्वारा परिवार को मदद दी जाएगी।

तिरपाल लगाकर की रहने की व्यवस्था।

पटवारी द्वारा मौके पर पहुंचकर बनाए पंचनामे के बाद प्रशासन भी इस मामले में पीड़ित परिवार की मदद कर रहा है ।मंगलवार को पीड़ित परिवार के लिए रहने के लिए तिरपाल लगाकर व्यवस्था की गई है और अनाज की भी व्यवस्था की गई है ।शासन से आर्थिक मदद भी उपलब्ध कराई जाएगी ।अशोक राठौर नायब तहसीलदार आठनेर।।

साढे तीन लाख रुपए का नुकसान।

पटवारी सत्यपाल मोहने से मिली जानकारी के अनुसार आग लगने से पीड़ित परिवार को साढे तीन लाख रुपए से ज्यादा का नुकसान हुआ है। अनाज मकान ग्रहस्थी का सामान भी जल गया ।पीड़ित परिवार के लिए रहने के लिए त्रिपाल और पन्नीयो की व्यवस्था तुरंत की है ।भोजन की व्यवस्था भी करवाई जा रही है। महिला के बयान भी तहसील कार्यालय में करवाये है। मकान मे आग कैसे लगी इसकी जानकारी पीडित परिवार नही बता पाया।महिला का पति भी बाहर गया है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!