1 वर्ष में 5 बार हुए सचिवों के ट्रांसफर बिना कोई वजह सचिवों के बार-बार बदलने की ये कैसी ट्रांसफर नीति

Share Scn News India

सौरभ शुक्ला

फुटेरा कला- विकासखंड बटियागढ़ की सजीवों का बार-बार स्थानांतरण बिना किसी वजह किया जाना समझ में पड़ी है माननीय उच्च न्यायालय जबलपुर द्वारा याचिका क्रमांक 14 282/ 2017 एवं आदेश क्रमांक 3621/ 2017 को उक्त सचिवों को यथावत स्थान पर कार्य करने आदेश जारी किया जिसके बाद 15/01/ 2018 में फुटेरा कला के सचिव राम प्रसाद पटेल को खमरिया एवं सुधीर सिंह राजपूत को कलेक्टर श्रीनिवास शर्मा ने खमरिया से फुटेरा कला कर दिया जबकि 08/09/2017 से माननीय उच्च न्यायालय जबलपुर में चल रहा है जिसका पीस ऑर्डर सर /J.P./ 2017 -18 आर्डर दिनांक 23/0 8/17 है न्यायालय से कोई निर्णय (निराकरण) नहीं हुआ बावजूद स्थानांतरण जारी है!

इस तरह हुए स्थानांतरण- 9 अगस्त 2016 को सचिव राम प्रसाद पटेल का पंचायत मंगला से खमरिया, 31 जुलाई 2017 को भिलौनी खमरिया से फुटेरा कला, 23 अगस्त 2017 को फुटेरा कला से खमरिया ,22 सितंबर 2017 को खमरिया से फुटेरा कला एवं 15 जनवरी को फुटेरा कला से खमरिया कर दिया एवं खमरिया ग्राम पंचायत से सुधीर सिंह राजपूत को फुटेरा कला कर दिया गया इस तरह बार-बार स्थानांतरण से पंचायत के कार्य प्रभावित होते हैं हितग्राहियों को भ्रम बना रहता है आखिर 5 बार स्थानांतरण की क्या वजह है!
फिर होगा फेरबदल- पंचायत सचिव राम प्रसाद पटेल ने बताया कि प्रकरण उच्च न्यायालय में लंबवत है आदेश मिलने पर फिर स्थानांतरण की उम्मीद है ग्राम पंचायत फुटेरा कला में 2015 से 3 सरपंच एवं सचिव बदले सरपंच मंदो बाई आदिवासी डेढ़ माह, सरपंच राजपयारी अहिरवाल सात माह ,उर्मिला गौंड 2 वर्ष सचिव विपिन पटारिया सात माह, राम प्रसाद पटेल सचिव एक वर्ष एवं सुधीर सिंह राजपूत डेढ़ वर्ष उपसरपंच रामप्रसाद रैकवार एवं 19 पंच यथावत हैं सचिवों के बार-बार बदलने से ग्रामीण परेशान हैं!
यह न्यायालीन मैटर है- कलेक्टर श्रीनिवास शर्मा से संपर्क नहीं हुआ जिला पंचायत सीईओ से सीधी बात- बिना कोई वजह पंचायत सचिवों के डेढ़ वर्ष में 5 बार ट्रांसफर किए गए यह कौन सी ट्रांसफर नीति है जिला पंचायत सीईओ ने कहा यह न्यायालीन मैटर है मैं अभी नया आया हूं!
एच. एस .मीणा जिला पंचायत सीईओ ,दमोह (मध्य प्रदेश)

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!