खाली मटके फोडे , अध्यक्ष पति पर लगाये गम्भीर आरोप

Share Scn News India

दीपेश दुबे

सारनी । नगर पालिका क्षेत्र सारनी में शुक्रवार को राजीव गांधी वार्ड क्रमांक 32 की पार्षद रश्मि अशोक बारंगे ने वार्डवासियों के साथ नगर पालिका में आकर मुख्य नगरपालिका अधिकारी को पानी की समस्या को लेकर ज्ञापन सौंपा है। पार्षद ने बताया की वार्ड 32 में पानी की बहुत अधिक परेशानी है वार्ड में दूषित पानी पीने से वार्ड वासी बीमार हो रहे हैं। डब्ल्यूसीएल द्वारा पानी की पाइप लाइन का सुधार कार्य किया जा रहा है ऐसी स्थिति में पानी की वार्ड में बड़ी समस्या है । नगर पालिका में पानी के टैंकर की अव्यवस्था से वार्ड में पानी नहीं आ रहा है । जिससे वार्ड में 500 से ज्यादा परिवारों को पानी की समस्या से जूझना पड़ रहा है । जिसे देखते हुए वार्ड की जनता ने पार्षद के साथ नगर पालिका में जमकर नारेबाजी करते हुए खाली मटके फोड़े और अपना विरोध दर्ज किया है।

पार्षद को दी जान से मारने की धमकी-

वार्ड क्रमांक 32 के पार्षद रश्मि अशोक बारंगे ने बताया 22 मई को सुबह पानी का टैंकर आया था। पानी वितरण करने के लिए पार्षद स्वयं वहां गई पानी वितरण करते समय अचानक ही कांग्रेस कार्यकर्ता पिंटिस नागले बिना कुछ कारण बेवजह पार्षद एवं उनके पति को अपशब्द कहने लगे। जिस पर पार्षद द्वारा पूछा गया कि हुआ क्या है तो भी पिंटिस नागले ने एक ना सुनी और जनता के सामने पार्षद और उनके पति को गाली देते हुए जान से मारने की धमकी दे डाली। पार्षद ने बताया कि वार्ड के गोलू पवार, रामदेव ने सारी घटना को देखा है। जिसकी शिकायत पार्षद द्वारा पाथाखेड़ा चौकी की है ।

उन्होंने कहा की कांग्रेस लगातार महिलाओं का अपमान कर रही हे। 19 मई को कमलनाथ के कार्यक्रम में जिला अध्यक्ष का अपमान कांग्रेस कार्यकर्ता द्वारा किया गया और 22 मई को वार्ड क्रमांक 32 के पार्षद के साथ अभद्र व्यवहार किया गया। जिससे कांग्रेस का असली चेहरा जनता के सामने धीरे-धीरे आ रहा है और अब नारी शक्ति का अपमान नहीं सहेगी विधानसभा चुनाव में ऐसे कार्यकर्ताओं की गलती का परिणाम कांग्रेस को भुगतना होगा । पिंटिस नागले पर कार्रवाई को लेकर जल्द ही पार्षद व भाजपा द्वारा पुलिस अधीक्षक को ज्ञापन सौंपा जाएगा ।

जनता का कहना- ठगा महसूस कर रहे हैं हम

नगर पालिका क्षेत्र सारनी की जनता का कहना है कि हमने दोनों ही बड़ी पार्टियों को वोट ना देकर निर्दलीय को वोट दिया था की क्षेत्र में विकास होगा और बड़ी पार्टियों को उनकी गलतियों का एहसास दिलाने के लिए- एक तरफा निर्दलीय को जनता ने जिताया पर अब जनता ठगा सा महसूस कर रही है । जनता का कहना हे की आशा महेंद्र भारती ने उनके साथ बहुत बड़ा विश्वासघात किया है । जनता का अब उन पर से विश्वास उठ चुका है । उनका दोहरी निति अपनाकर कांग्रेस में शामिल होना । जिससे उन्होंने जनता की आस तोड़ दी है। नपा अध्यक्ष का कांग्रेस में शामिल होना जिसका परिणाम कांग्रेस को भुगतना होगा।

अध्यक्ष पति असामाजिक तत्वों गुंडों को बिठाते हैं नगरपालिका में हमेशा

अध्यक्ष पति को नहीं है महिलाओं व जनता से बात करने का तरीका – नहीं मिलने दिया अध्यक्ष पति ने अध्यक्ष से

पानी की समस्या को लेकर वार्ड क्रमांक 32 की महिलाएं सुबह 10 बजे नगरपालिका पहुंच गई थी महिला के माध्यम से नपाध्यक्ष को फोन लगाया गया उनके पति महेंद्र भारती ने उठाया और गुस्से में कुछ का कुछ बोलने लगे । 1 बजे तक वार्ड वासी नपा में बैठे रहे जब 1:30 बजे नगर पालिका अध्यक्ष आई और अपने कार्यालय में गई । महिलाओं ने जब अध्यक्ष से मिलना चाहा तो उनके पति सामने आकर बोलने लगे पानी बहा दूंगा पूरे वार्ड में एवं वार्ड की महिलाओं से जनता के सामने अभद्र व्यवहार किया। अध्यक्ष पति ने कहा कि तुम मुझसे पूछकर नहीं आये हो। तुम लोग नगरपालिका पूछ कर आया करो इतने में उनके कुछ गुर्गे भी बोलने लगे जिस पर तत्काल वार्ड की जनता एवं नगर पालिका उपाध्यक्ष भड़क गए और उनके गुर्गो को चुप कराया और नगर पालिका में बिना कारण बैठने और बीच में हस्तक्षेप करने पर भी जनता ने नाराजगी जाहिर की है। वार्डवासी यह कहने से भी नहीं चूके की अध्यक्ष पति नगरपालिका में गुंडे पालकर रख रहे हैं जो हमेशा ही उनके साथ नगर पालिका में डटे रहते हैं। सारनी नगर पालिका का दुर्भाग्य है की कुछ वर्षों से नगर पालिका को स्वतंत्र नगर पालिका अध्यक्ष नहीं मिल पाया-नगर पालिका अध्यक्ष पति हर कार्य में करते हैं। जनता ने गलती से जिसे अध्यक्ष चुन कर लाया है उन्हें तो बोलने का मौका तक नहीं दिया जाता हर कार्य में हस्तक्षेप किया जाता है। जनता को अध्यक्ष से मिलने से पहले उनके पति और नपा में अध्यक्ष पति के माध्यम से बिठाया गए असामाजिक तत्वों से पहले मिलना होता है । जिससे जनता में आक्रोश का माहौल है । जनता ने मांग की है नगरपालिका के कार्य में अध्यक्ष पति हस्तक्षेप ना करें और असामाजिक तत्वो को नगर पालिका मैं ना बिठाएं जाए । नगरपालिका के कुछ कर्मचारियों ने बताया हमेशा अध्यक्ष पति के साथ साथ असामाजिक तत्व भी हर कार्य में हस्तक्षेप करते हैं। जल्द ही मुख्य नगरपालिका अधिकारी को ज्ञापन सौंपकर असामाजिक तत्व को बिना कारण नगर पालिका में ना बैठने की मांग की जाएगी ।इस अवसर पर सुनीतापंडोले,लीलावती,रीति,राखी कमला,सुभद्रा पवार,मीना देवी,अनीता,गीता,दुर्गा, सुनीता भन्नारे,शहीदा ,संगीता प्रजापति,दयाराम डेहरिया,रमेश बेलवंशी,अनीता,ममताबाई बाई,सीताबाई,लक्ष्मी,चंद्रकला आदि उपस्थित थे ।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!