जिला स्वास्थ्य समिति की समीक्षा बैठक 

Share Scn News India

बैतूल –

जिला स्वास्थ्य समिति की बैठक का आयोजन कलेक्ट्रेट सभाकक्ष में कलेक्टर श्री शशांक मिश्र की अध्यक्षता में आयोजित किया गया। बैठक में कलेक्टर श्री मिश्र ने स्वास्थ्य के सभी राष्ट्रीय कार्यक्रमों की समीक्षा की उन्होंने निर्देशित किया कि मलेरिया नियंत्रण हेतु बैतूल जिले को आवंटित की जाने वाली 2 लाख 60 हजार मच्छरदानियांे का उचित प्रकार से आवंटन किया जाये। असंगठित श्रमिक पंजीयन का कार्य प्राथमिकता से पूरा करें। पूर्व में प्राक्कलित ए.पी.एल मरीजों के प्रकरणों को असंगठित श्रमिकों के रूप में पंजीकृत होने पर राज्य बीमारी सहायता निधि के अंतर्गत तत्काल सूची जिला स्तर पर भेजकर उपचार कराने हेतु खण्ड चिकित्सा अधिकारियों को निर्देशित किया।

दिनांक 06,07 एवं 08 जून को आयोजित चिकित्सा शिविर को बिना किसी बाधा के पूर्ण किये जाने हेतु डॉ. अशोक बारंगा को निर्देशित किया। परिवार कल्याण कार्यक्रम के अंतर्गत विगत पखवाडे़ में 123 केस हुये है जो संतोषजनक है श्री मिश्र ने शाहपुर, घोडाडोंगरी, आठनेर की प्रगति की प्रशंसा की एवं सेहरा एवं चिचोली की उपलब्धि पर असंतोष जाहिर किया एवं कहा कि लक्ष्य वितरित करें एवं पुरूष नसबंदी पर भी जोर दे। श्री मिश्र ने आई.यू.सी.डी एवं पी.पी.आई.यू.सी.डी में भीमपुर, घोडाडोंगरी, आमला एवं भैंसदेही को ऐसे ही बढत बरकरार रखने हेतु निर्देशित किया। हिरण्यगर्भा अभियान की गृह भेंट के अंतर्गत निर्देशित किया कि गर्भवती महिलाओं की जांच के अतिरिक्त सात दिवस से अधिक खांसी वाले मरीजों की जानकारी लेकर क्षय की जांच करें एवं उपचार उपलब्ध करायें।

मुलताई एवं चिचोली को चेतावनी दी गई की एक भी केस बिना गृह भेंट के न रहे इस अभियान को गंभीरता से लिया जाये। अंधत्व नियंत्रण कार्यक्रम के अंतर्गत ए-स्केन मशीन उपलब्ध कराने हेतु जिला पंचायत के मुख्य कार्यपालन अधिकारी श्री क्षितिज सिंघल को निर्देशित किया। एन.आर.सी. में कुपोषित बच्चों को 15 दिवस भर्ती रखने के अपरांत 4 फालोअप करने एवं एन.आर.सी. एम.आई.एस में विधिवत इंद्राज करने हेतु भी निर्देशित किया। क्लबफुट के भर्ती बच्चों के उपचार हेतु आवश्यक निर्देश मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी को दिये। जिन बच्चों का वजन अपेक्षित रूप से नहीं बढ़ रहा है उनकी सूची महिला एवं बाल विकास विभाग के सी.डी.पी.ओ. एवं बी.एम.ओ. उपलब्ध करायेगें जिनका आर.बी.एस.के. दल द्वारा विशेष परीक्षण किया जायेगा।

मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी डॉ. प्रदीप मोजेस ने बताया कि 1 जून से मलेरिया निरोधक माह आयोजित किया जायेगा पिछले वर्ष जिन क्षेत्रों में मलेरिया के मरीज मिले हैं वहां मलेरिया रथ द्वारा प्रचार-प्रसार किया जायेगा। मलेरिया ऑफ आयुर्वेदिक औषधि का वितरण जून-जुलाई माह में चिन्हिंत ग्रामों में किया जायेगा। डॉ. मोजेस द्वारा निपाह वायरस से बचाव की जानकारी दी। क्षय नियंत्रण कार्यक्रम के अंतर्गत 23 मई से जिले के चयनित 7 ग्राम एवं तीन पंचायतों में जारी सर्वे कार्य की जानकारी दी गई। एल-1 पर दर्ज शिकायत का संतुष्टिपूर्वक निराकरण करें किसी भी प्रकार की लापरवाही मान्य नहीं होगी। विशेष टीकाकरण अभियान 129 उप स्वास्थ्य केन्द्रों और 467 ग्रामों में चलाया जा रहा है विशेष टीकाकरण अभियान। टीकाकरण कर एम.सी.पी. कार्ड में व एच.आई.एम.एस. में एंट्री इंद्राज हो यह सुनिश्चित करें। दिनांक 14 जून से 31 जुलाई तक दस्तक अभियान का आयोजन किया जायेगा जिसके अंतर्गत एनीमिया, निमोनिया, ओ.आर.एस, आई.वाई.सी.एफ, वर्थ डिफेक्ट, टीकाकरण इत्यादि सेवायें दी जायेगी।

बैठक में मुख्य कार्यपालन अधिकारी जिला पंचायत श्री क्षिजित सिंघल, सिविल सर्जन डॉ. अशोक बारंगा, जिला टीकाकरण अधिकारी डॉ. अरविंद भट्ट, माइक्रोन्यूट्रीऐन्ट श्री मनोज चौहान, समस्त राष्ट्रीय कार्यक्रम अधिकारी, बी.ई.ई., बी.पी.एम, बी.सी.एम. उपस्थित रहे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!