एनसीटीई के पाठ्यक्रमों के लिये इस वर्ष एम.पी. ऑनलाइन से होगा प्रवेश

Share Scn News India

उच्च शिक्षा मंत्री श्री जयभान सिंह पवैया की पहल
बैतूल,
मध्यप्रदेश में सभी अशासकीय शिक्षा महाविद्यालयों एवं पारम्परिक विश्वविद्यालयों की शैक्षणिक एवं शारीरिक शिक्षण अध्ययन शालाओं में सत्र 2018-19 में राष्ट्रीय अध्यापक शिक्षा परिषद (एनसीटीई) के बी.एड. एवं अन्य पाठ्यक्रमों के लिये स्वीकृत लगभग 50 हजार सीटों के लिये प्रोफेशनल एक्जामिनेशन बोर्ड (पीईबी) के माध्यम से प्रवेश परीक्षा व्यवस्था को समाप्त करने का निर्णय लिया गया है। उच्च शिक्षा मंत्री श्री जयभान सिंह पवैया से मध्यप्रदेश में बी.एड. तथा बी.पी.एड. में प्रवेश प्राप्त विद्यार्थियों तथा विभिन्न संस्थानों के संचालकों के प्रतिनिधि-मण्डल ने विगत 10 मई को भेंट कर एनसीटीई के पाठ्यक्रमों में प्रवेशित प्रक्रिया को परिवर्तित करने का अनुरोध किया था।
इस वर्ष एम.पी. ऑनलाइन के माध्यम से ऑनलाइन प्रवेश प्रक्रिया सम्पन्न की जायेगी। ऑनलाइन आवेदन की प्रक्रिया 15 जून से शुरू की जायेगी। ऑनलाइन काउंसलिंग की समय-सारणी शीघ्र ही उच्च शिक्षा विभाग की वेबसाइट http://www.highereducation.mp.gov.in एवं एम.पी. ऑनलाइन के पोर्टल http://hed.mponline.in पर उपलब्ध रहेगी।
इस वर्ष इन पाठ्यक्रमों में अर्हकारी परीक्षाओं के प्राप्तांक के गुणानुक्रम के आधार पर प्रवेश की प्रक्रिया होगी। एनसीटीई के 8 पाठ्यक्रमों के लिये 3 चरणों में प्रवेश प्रक्रिया पूर्ण की जायेगी। प्रथम चरण में आवेदक एम.पी. ऑनलाइन के पोर्टल पर ऑनलाइन पंजीयन करते हुए दस्तावेजों का ऑनलाइन सत्यापन शासन द्वारा चिन्हित हेल्प-सेंटर (शासकीय महाविद्यालय तथा विश्वविद्यालय) के माध्यम से किया जायेगा। बीपीएड एवं एमपीएड के लिये क्रमश: फिटनेस एवं प्रोफिशियेन्सी टेस्ट निर्धारित हेल्प-सेंटर पर निर्धारित तिथियों में होगा। इसके बाद समेकित मेरिट-सूची का प्रकाशन एवं वरीयता के अनुसार प्रथम चरण में सीटें आवंटित की जायेंगी। चिन्हित हेल्प-सेंटर के माध्यम से शुल्क, टी.सी. तथा माइग्रेशन जमा करवाने पर प्रवेश दिया जायेगा।
प्रत्येक चरण की समाप्ति के बाद महाविद्यालयों की रिक्त सीटों का प्रकाशन किया जायेगा। प्रत्येक चरण में नवीन आवेदकों को ऑनलाइन पंजीयन तथा ऑनलाइन दस्तावेजों के सत्यापन की सुविधा उपलब्ध होगी। ऑनलाइन सत्यापन के लिये 77+7=84 चिन्हित हेल्प-सेंटर (शासकीय महाविद्यालय तथा विश्वविद्यालय) होंगे। बी.एड. तथा एन.सी.टी.ई. के अन्य पाठ्यक्रमों के लिये मेरिट तथा वरीयता के आधार पर 3 चरणों में प्रवेश प्रक्रिया की जायेगी। प्रत्येक चरण में विद्यार्थियों को ऑनलाइन पंजीयन करवाने की सुविधा प्राप्त होगी। तृतीय चरण की समाप्ति के बाद महाविद्यालयों में रिक्त सीट पर प्रशासकीय अनुमोदन के बाद रिक्त सीटों को भरने की कार्यवाही पर विचार किया जायेगा।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!