शौचालय बनते बनते दूसरे दिन ही गिर गए हितग्राहियों को धमकी- समूह द्वारा शौचालय नहीं बनवाओगे तो राशन कार्ड होंगे निरस्त

Share Scn News India

शौचालय बनते बनते दूसरे दिन ही गिर गए
हितग्राहियों को धमकी- समूह द्वारा शौचालय नहीं बनवाओगे तो राशन कार्ड होंगे निरस्त समूह द्वारा दो बोरी में हो जाता है निर्माण स्लिप नहीं दी जा रही घटिया निर्माण से हवा के झोंके में गिर रही दीवाले स्थानीय ठेकेदारों की हितग्राही कर रहे शिकायतें
फुटेरा कला -ग्राम में अब स्वच्छ भारत मिशन की मर्यादा अभियान के तहत स्व सहायता समूह द्वारा हितग्राहियों के व्यक्तिगत शौचालय बनाए जा रहे हैं जिसमें गुणवत्ता की अनदेखी कर अपनी मनमानी तरीके से 2 बोरी सीमेंट में ही शौचालय निर्माण हो जाता है सिलिप की जगह ₹200 का चद्दर डाल दिया जाता है हितग्राही राधा रानी खंगार ने बताया कि ठेकेदार द्वारा पंचायत के नाम धमकी दी गई थी कि अगर शौचालय नहीं बनवाया गया तो राशन कार्ड निरस्त कर दिया जाएगा घटिया निर्माण के चलते समूह द्वारा 1/6 की जगह 1/10 का सीमेंट (सीमेंट एक तसला एवं नाले की रेत10 तसला) लगाकर घटिया ईटों से निर्माण कर दिया जो दूसरे दिन ही गिर गया पंचायत को खबर ना लगे इसलिए सुबह होते ही दोबारा निर्माण किया गया जिम्मेदारों की मिलीभगत से शासन की राशि का दुरुपयोग किया जा रहा है घटिया निर्माण से 1 वर्ष भी शौचालय नहीं चल पाएंगे हितग्राही प्रभा राय ने बताया कि नाले की लोकल रेत और कम सीमेंट से उनका गड्ढा दूसरे दिन ही धस गया हितग्राही बंधु पटेल ने कहा कि जबरन घटिया निर्माण किया जा रहा था इसलिए बीच में ही काम बंद करवा दिया उन्होंने कहा कि जब तक जांच नहीं होगी काम नहीं होने दूंगा!
यह है नियम -32 सेंटीमीटर सीट, 2×2 फीट की टंकी 1 मीटर व्यास के दो टैंक ढके हो सीट की कमरे से ऊंचाई 6 फुट और छप्पर पर छड़, सीमेंट गिट्टी की स्लिप होना चाहिए ताकि पूरा चेंबर कसा हो तभी इसकी उपयोगिता सही मानी जाएगी मर्यादा अभियान एवं रोजगार गारंटी सहित ₹12000 की राशि पंचायत द्वारा हितग्राही के साथ शौचालय की फोटो खींची जाएगी तभी राशि प्राप्त होगी नियमों को दरकिनार कर समूह द्वारा ठेके पर निर्माण किए जा रहे हैं!
कुटीर में पात्र शौचालय में अपात्र- कई हितग्राहियों को कुटीर तो मिली ,शौचालय की प्रोत्साहन राशि नहीं मिली घनश्याम पटेल, संतोष पटेल ने कहा कि जिम्मेदारों की लापरवाही की वजह कुटीर निर्माण के 135000 रुपए मिले लेकिन वे शौचालय सूची में अपात्र हैं!
नहीं हो रही जांच- उपसरपंच रामप्रसाद रैकवार का कहना है कि स्थानीय ठेकेदारों द्वारा गुणवत्ताहीन निर्माण एवं जिम्मेदारों की अनदेखी की विभाग को जानकारी दी गई है सरपंच सचिव भी इस ओर ध्यान नहीं देंगे तो पंचों के साथ मिलकर आंदोलन करेंगे पंचायत सचिव सुधीर सिंह राजपूत का कहना है शौचालय में स्लिप होने पर ही पंचायत द्वारा फोटो खींची जाएगी तभी राशि मिलेगी!
लापरवाही नहीं चलेगी -मुझे शिकायत मिली है मैं अभी 10 मिनट में जा कर देखता हूं गड़बड़ी होने पर कार्यवाही की जाएगी!
आनंद शुक्ला मुख्य कार्यपालन अधिकारी जनपद पंचायत बटियागढ़ जिला दमोह (मध्य प्रदेश)
फुटेरा कला से सौरभ शुक्ला की रिपोर्ट

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!