वोटर-लिस्ट में दोहरी प्रविष्टि के संबंध में 34 जिलों से माँगी जानकारी

Share Scn News India

भौतिक सत्यापन के बाद वोटर और बीएलओ के भी हस्ताक्षर
बैतूल,
मध्यप्रदेश की वोटर-लिस्ट में दोहरी प्रविष्टि को पूरी तरह समाप्त करने के लिये इन दिनों चल रहे प्री-रिवीजन और पुनरीक्षण कार्यक्रम में बीएलओ घर-घर जाकर सर्वेक्षण कर रहे हैं। इस दौरान मतदाताओं के नाम की दोहरी प्रविष्टि की शिकायत पर भी गंभीरतापूर्वक कार्यवाही की जा रही है। मुख्य निर्वाचन पदाधिकारी श्रीमती सलीना सिंह ने इस संबंध में सभी जिला कलेक्टर को वोटर-लिस्ट की गहराई से जाँच करने के बाद दोहरी प्रविष्टि वाले मतदाताओं के नाम हटाने के निर्देश दिये हैं।
श्रीमती सलीना सिंह ने बताया कि प्रदेश के 34 जिलों को दोहरी प्रविष्टि वाले नामों पर कार्यवाही करने को कहा गया है। कार्यवाही के बाद तैयार की गई भौतिक सत्यापन रिपोर्ट पर संबंधित मतदाताओं तथा बीएलओ (बूथ लेवल ऑफिसर) के भी हस्ताक्षर करवाये जा रहे हैं। श्रीमती सिंह ने बताया कि जिन 34 जिलों से रिपोर्ट माँगी गई है, उनमें 91 विधानसभा निर्वाचन क्षेत्र में आते हैं। ये जिले हैं भिण्ड, ग्वालियर, शिवपुरी, गुना, अशोकनगर, सागर, टीकमगढ़, छतरपुर, दमोह, सतना, अनूपपुर, कटनी, बालाघाट, नरसिंहपुर, छिंदवाड़ा, बैतूल, हरदा, होशंगाबाद, रायसेन, विदिशा, भोपाल, सीहोर, राजगढ़, देवास, खरगोन, बड़वानी, अलीराजपुर, झाबुआ, इंदौर, उज्जैन, रतलाम, उमरिया, मंदसौर और नीमच। अधिकांश जिलों से भौतिक सत्यापन की रिपोर्ट प्राप्त हो चुकी है।
श्रीमती सिंह के अनुसार भौतिक सत्यापन में जिन बिन्दुओं पर वोटर की जानकारी एकत्रित की जा रही है, उनमें मतदाता का नाम, एपिक नम्बर, जेंडर, आयु, पता, बीएलओ का रिमार्क शामिल है। श्रीमती सलीना सिंह के अनुसार 18 जून तक इन जिलों में भौतिक सत्यापन का कार्य पूरा हो जायेगा। शेष अन्य जिलों को भी वोटर-लिस्ट का भौतिक सत्यापन करवाने के निर्देश दिये गये हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!