वन भूमि से कब्जा हटाने गये वन अमले पर किया कातिलाना हमला

Share Scn News India

●हमले में दर्जनभर वन कर्मी घायल तीन गंभीर एक आरोपी भी गंभीर
●असरदार लोगों को वन भूमि पर खेती करवाता है वन विभाग
रिपोर्ट-प्रद्युम्न फौजदार,छतरपुर
बडामलहरा/वन भूमि पर अबैध कब्जा कर खेती करने वाले एक ही परिवार के चार सदस्यों ने उनके खिलाफ कार्यवाही करने गये वन अमले पर घात लगाकर जानलेवा हमला कर दिया वारदात बडामलहरा वन परिक्षेत्र के धनगुवां गांव स्थित मजरा में गुजरी रात कोई पौने तीन बजे घटे जानलेवा हमले में गंभीर रुप से घायल एक वनरक्षक को इलाज के लिये जिला चिकित्सालय रेफर किया गया सिर में घातक चोटों की वजह से हालत मरणासन्न होने की वजह से इलाज के लिये मेडिकल कालेज अस्पताल ग्वालियर रेफर कर दिया गया है आरोपियों के हमले में घायल दो अन्य वन कर्मियों को इलाज के लिये जिला चिकित्सालय में दाखिल कराया गया है ।

जहां उनकी हालत खतरे से बाहर बतायी गई है।घटना की शिकायत पर बडामलहरा थाना पुलिस ने हमलावरों के खिलाफ विभिन्न आपराधिक धाराओं के तहत जुर्म दर्ज कर लिया है बताया गया है कि वन विभाग का अमला घूस लेकर पिछले कई बर्षों से न सिर्फ हमलावरों को बल्कि बडामलहरा वन परिक्षेत्र के विभिन्न इलाकों में वन भूमि पर असरदार लोगों को कृषि कार्य करवाता आ रहा था अबके बर्ष वन अमले ने और अधिक रिश्वत की मांग की थी आरोपियों द्वारा मांग पूर्ति से जब इंकार कर दिया गया तो वन अधिकारियों के आदेश पर वन अमला आरोपियों के खिलाफ आधी रात के वक्त घटना स्थल पर पहुंचा था। कहा जा रहा है कि आरोपियों को वन विभाग के ही किसी कर्मचारी ने वन अमले के कार्यवाही के घटना स्थल पर पहुंचने की सूचना मोबाइल फोन के जरिये दे दी थी इसी वजह से आरोपियों ने सुनियोजित साजिश के तहत कार्यवाही के लिये आ रहे वन अमले पर जानलेवा हमला कर दिया यह भी बताया गया है कि वन अमले और आरोपियों के बीच हुये संघर्ष में एक आरोपी भी गंभीर रुप से घायल हुआ है ।

बडामलहरा टीआई एस.के.दुबे ने आरोपी को हिरासत में लेकर इलाज के लिये जिला चिकित्सिलय भेजा है।सवाल उठ रहा है कि इलाके के वरिष्ठ वन अधिकारी ने कार्यवाही के लिये आरोपियों के पास वन कर्मचारियों को निहत्थे क्यों भेजा था।

जिसको लेकर लोग गहरे अचरज में है।बडमलहरा टीआई एस.के. दुबे ने बताया कि वन अमले की रिपोर्ट पर धनगुवां निवासी रत्तू यादव उसके पुत्र बडेभाई उर्फ दयाराम यादव,पिंटू उर्फ प्रेमलाल यादव तथा रत्तू की पत्नि मुन्नी बाई यादव के खिलाफ धारा 341,353,332,427,506 मामला दर्ज कर विवेचना में लेकर आरोपियों की तलाश शुरु कर दी है टीआई ने यह भी बताया कि यादव परिवार द्वारा किये वन अमले पर घातक हमले में वन रक्षक रवि गुप्ता,वनरक्षक बृजराज सिंह, वनरक्षक अरुण खरे गंभीर रुप से घायल हुये है जबकि भागीरथ रैकवार,गोकुल शुक्ला, डिप्टी रेंजर शिवचरण यादव को मामूली चोटें आयीं है।

उक्त तीनों गंभीर रुप से घायलों को जिला अस्पताल रेफर किया जबकि मरणासन्न हालत में रवि गुप्ता को मेडिकल कालेज अस्पताल ग्वालियर रेफर किया गया है।उधर वन विभाग के डिप्टी रेंजर सतीष पटैरिया ने बताया कि आरोपियों द्वारा वन परिक्षेत्र के कक्ष क्र.35 अर्जुनकुण्ड की वन भूमि पर रोक लगाने के बाबजूद भी अतिक्रमण कर खेती की जा रही थी वहां पदस्थ डिप्टी रेंजर शिवचरण यादव ने बडामलहरा वन परिक्षेत्राधिकारी से अमला मांगा तो तत्काल भेज दिया गया इसके बाद रात कोई ढा़ई बजे फिर से अमला मांगा तो अमला फिर स भेजा गया।

लेकिन पहले से ही घात लगाकर वन अमले पर जुताई कराये जा रहे स्थल पर पहुंचने से पहले ही हमला कर दिया।डिप्टी रेंजर ने यह भी बताया कि रेंज आफीसर ए.के.तिवारी, वन रक्षक पवन तिवारी तथा हफीज बेग भी मौके पर पहुंच गये थे डिप्टी रेंजर ने यह भी बताया कि इस घटना में सरकारी वाहन भी बुरी तरह क्षतिग्रस्त हो गया है वन विभाग ने भी वन अधिनियम की विभिन्न धाराओं के तहत कार्यवाही की है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!