राजनिति के इतिहास मे तामिया से नही बना कोई विधायक

Share Scn News India

●विधानसभा उम्मीदवारी को लेकर होने लगी दावेदारी
जनता की मांग है कि तामिया से हो अगला विधायक

नितिन दत्ता तामिया (छिंदवाडा) – आदीवासी बहुल विकासखंड तामिया छिन्दवाड़ा जिले के जुन्नारदेव विधानसभा के साथ अमरवाडा विधानसभा का भी हिस्सा है | आजादी के बाद से अब तक तामिया से किसी भी उम्मीदवार को विधानसभा मे प्रतिनिधित्व नही मिला यहा प्रमुख सभी राजनितिक दलो के समर्पित कार्यकर्तायो की कमी नही है | विधानसभा मिशन 2018 की राजनितिक तैयारी शुरु हो गयी दिसंबर में चावलपानी ओर उससे पहले छिंदी क्षेत्र मे हुई चुनावी सभी मे जहा प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष तथा जिले के सांसद कमलनाथ ने चुनावी बिगुल फूंककर प्रदेश की सरकार के खिलाफ जनमत जुटाने की मुहिम छेड दी है वही अब परिसीमन के बाद एक हुई जुन्नारदेव विधानसभा के दूसरे चुनाव मे कांग्रेस के कई प्रत्याशियो की चिंता बढ गई है पूर्व विधायक तेजीलाल का बैठना और मंच में चिंतामग्न सुनील उइके की तस्वीर के कई चुनावी उम्मीदवारी के मायने निकल रहे है वही भारतीय गोंडवाना पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष मनमोहन शाह बट्टी बीते माह में 2, 4 फरवरी 2018 को हर्रई मे आयोजित राष्ट्रीय अधिवेशन कार्यक्रम की तैयारियो मे बडे नेताओ को एकजुट कर चुके है भारतीय गोंडवाना पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष तथा पूर्व अमरवाडा विधायक मनमोहन शाह बट्टी कि अगुआई में हर्रई जागीर (अमरवाडा) के गोंडवाना संस्थान स्थल पर अखिल भारतीय गोंडवाना गोंडवाना महासभा का 13 वा राष्ट्रीय अधिवेशन का आयोजन गोंडवाना पीस फाउंडेशन के तत्वाधान मे 2 से 4 फरवरी 2018 तीन दिवसीय आयोजन हुआ था गोंडवाना पार्टी इस अधिवेशन के बाद बाद चुनावी समर की शुरुआत हो गयी है भारतीय गोंडवाना पार्टी के जिला अध्यक्ष माठू सिरसाम अपना भाग्य विस चुनाव मे आजमाने की तैयारी मे है|
तामिया से नही बना अब तक कोई विधायक – उल्लेखनीय है कि आजादी के बाद से अब तक पहले की जुन्नारदेव और दमुआ विधानसभा मे अधिकतर विधायक दमुआ और जुन्नारदेव के ही रहे लगभग एक लाख बीस हजार की आबादी वाले आदीवासी बहुल तामिया विकासखंड मे आज तक किसी भी आदीवासी नेता को विधानसभा चुनाव मे मौका मिला तामिया से कोई नही रहा तामिया क्षेत्र मे कुल 103 मतदान केंद्र है जिसमे जुन्नारदेव 122 विधानसभा क्षेत्र में 64 तथा अमरवाडा 123 विधानसभा क्षेत्र में 39 मतदान केंद्र है तामिया के 53 ग्राम पंचायत के 199 ग्रामो मे भले ही कुछ गाव वीरान है लेकिन चुनावी वोटो के लिहाज से दुर्गम भौगोलिक क्षेत्र के तामिया का जुन्नारदेव विधानसभा मे अहम किसी भी प्रत्याशी के लिये अहम योगदान रहता है | परिसीमन मे दमुआ और जुन्नारदेव विधानसभा को मर्ज कर एक विधानसभा बना दिये जाने के बाद कांग्रेस के युवा नेता सुनील उइके और भाजपा के संघ पृष्ठभूमि के नत्थनशाह कवरेती के बीच चुनाव हुआ था वर्तमान मे श्री कवरेती भाजपा के विधायक है वही कांग्रेस मे सुनील उइके की राजनितिक पारी की शुरुआती दौर के कई युवा नेता आज हाशिये मे है कांगेस शासन काल मे तामिया के कांग्रेस में तामिया के धुसावानी ग्राम उच्च शिक्षित युवा नेता अखिलेश इरपाची जिस समय जिला पंचायत सदस्य थे उस दौर में सुनील उइके परासिया से जनपद सदस्य थे | कांग्रेस के संगठन मे समय बदलने के बाद अखिलेश इरपाची पार्टी की उपेक्षा के बाद खेतीबाडी मे जुट गये ऐसा एक मात्र उदाहरण नही है| स्थानीय राजनीति की हलचल के बीच बीजेपी की हुंकार के साथ कांग्रेस की ललकार गुंज रही है वही इसी शोरगुल के बीच आदीवासियो की समस्या को लेकर गोंडवाना पार्टी हर बार की तरह अंदरुनी जमीनी तैयारियो मे जुटी हुई है | जुन्नारदेव विधानसभा इस बार राजनीती का अखाडा बन गया है रोजगार के अभाव मे ग्रामीणो का पलायन होने से जनता पहले से ही नाराज है स्थानीय भाजपा से जुडे संघ पृष्ठभूमि के युवानेता हिरदेश धुर्वे दौढ मे है जिन्हे सक्षम होने के साथ भाजपा का भरोसेमंद उम्मीदवार बताया जा रहा है वही वर्तमान विधायक नत्थनशाह के पांचवे कार्यकाल मे साल से जनता से सीधे संपर्क बनाने में निष्क्रियता के नकारात्मक पहलू के कार्यकर्ताओं एवं संगठन में समन्वय की कमी संगठन से कार्यकर्ताओ मे नाराजगी का माहौल है | हिरदेश धुर्वे पिछले विधानसभा चुनाव में दावेदारी पेश करने में चर्चाओ मे रहे थे सूत्रो की माने तो विधायक का संगठन से कोई तालमेल का अभाव कुछ लोगो के कहने पर कार्यकर्ताओ और जमीनी नेता से व्यक्तिगत दूरियां बनाये रखने से भी हार का कारण बना रहने से भी नकारा नही जा सकता अनुसूचित जनजाति मोर्चा के प्रमुख हिरदेश भी जोर आजमाइश मे लगे है | सांसद प्रतिनिधि दिनेश मालवीय ने बताया कि स्थानीय उम्मीदवार की मांग हर कोई चाहता है वही कांग्रेस नेता और वर्तमान सरपंच अनिल भारती तामिया पंचायत के पंच व ब्लाक कांग्रेस के उपाध्यक्ष, पूर्व विधायक प्रतिनिधि मोहन धुर्वे भी दावेदारो में शामिल है विधानसभा चुनाव मे दावेदारी के तीनों दावेदार तामिया से सरपंच पद के लिए उमीदवार रहे है । वही गोंडवाना से गोंडवाना पार्टी के जिलाध्यक्ष और तामिया के खडुआ ग्राम निवासी माठू सिरसाम जुन्नारदेव विधानसभा के प्रत्याशी होंगे| जुन्नारदेव विधानसभा के तामिया मे निर्वाचन के लिये उम्मीदवारों का रिपोर्ट कार्ड देखने के बाद कौन सी पार्टी किस स्थानीय व्यक्ति को अपना प्रत्याशी बनाती है यह सब भविष्य पर निर्भर है| आज तामिया मे कांग्रेस के संगठन में भैयालाल साहू शंकरलाल सूर्यवंशी इस्माइल गांधी जैसे वरिष्ठ नेताओ को कोई तवज्जो नही मिल पाने से सब अपने अपने काम धंधे मे लगे है | तेजीलाल सरेयाम प्रदेश शासन के पूर्व मंत्री रहे है जो आजकल अलग अलग आयोजनो मे दिखने लगे है बीते चार सालो से युवानेता सुनील उइके की चुनरी यात्रा भी चर्चाओ के साथ उन्हे चार सौ दुर्गा उत्सव पंडालो में उन्हे लोकप्रिय कर चुकी है| तामिया मे राजनिति की कमान अब नये नये लोगो पर है आनद बख्शी इब्नेहसन रिजवी हेमंत राय जैसे कई नेताओ के पर्यवेक्षण के बाद कांग्रेस की जमीन फिलहाल नये पर्यवेक्षक जमील खान की अगुआई में चुनावी फसल के लिये तैयार हो गयी है | कांग्रेस में वरिष्ठ नेताओ की उपेक्षा का मामला नया नही है | स्थानीय युवा अखिलेश इरपाची के जिला पंचायत सदस्य रहते सालो पहले तामिया क्षेत्र से विधायक उम्मीदवार चुने जाने का मुद्दा उठा था जो समय के साथ थम गया | तामिया में कालेज की प्राध्यापक बतौर अनसुइया उइके बाद में दमुआ से विधायक रही भाजपा से राज्यसभा के बाद आज राष्ट्रीय अनुसूचित जनजाति आयोग की उपाध्यक्ष है | तामिया जनपद पंचायत की सदस्य रहने के बाद झिरपा क्षेत्र की श्रीमति कांता ठाकुर जिला पंचायत अध्यक्ष है तामिया मे कांग्रेस की जमीन मजबूत होने के साथ आपसी खींचतान से भरी पडी है कांग्रेस के तामिया में कई नेता विवादित होने के साथ आपराधिक मामले झेल रहे है वही भाजपा में भी अब संगठन बिखराव की स्तर पर है भाजपा की राज्य भारिया प्राधिकरण अध्यक्ष उर्मिला भारती जाति प्रमाण पत्र को लेकर सुर्खियो में है वही क्षेत्रीय विधायक को लेकर भी गाहे बगाहे चर्चा निकल पडती है | आरएसएस संगठन के कामकाज मे उदयभान इंगले के बाद अब पहले जैसे गतिविधियो का अभाव दिखता है | चुनावी साल आने मे एक पखवाडा बचा है ऐसे मे अब पूर्व विधायक झनकलाल ठाकुर के सुपुत्र युवा भाजपा नेता आशीष ठाकुर सक्रिय है वही परदे के पीछे ऐसे ही कई नाम है जो समय के साथ आगे सामने आयेंगे| पांडुरना विधायक द्वारा सीएम को लेकर की गई टिप्पणी के कथित तौर पर पुलिस के सिपाही के सांसद पर बंदुक तान देने के मामला सामने आने के बाद राजनितिक उठापटक तेज हो गयी है| वही सांसद पर बंदुक तान देने के मामले मे भाजपा युवा नेता आलोक श्रीवास्तव ने भाजपा संगठन को ही कटघरे मे ला दिया है | सोशल मीडिया में बीते दिनो भाजपा के युवा नेता आलोक श्रीवास्तव ने बंदुक ताना देने के मामले मे भाजपा की चुप्पी पर सांसद कमलनाथ के हाथो भाजपा के बिके होने का आरोप लगाया था |

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!