बैतुल – घोड़ाडोंगरी – किया जा रहा तवा नदी का सीना छलनी..

Share Scn News India

●प्रशासन की अनदेखी से तवा नदी का अस्तित्व खतरे में …

विक्रम राठौर पत्रकार आशीष पेंढारकर

घोड़ाडोंगरी – चोपना क्षेत्र में रेत माफियाओं के सामने प्रशासन बेबस नज़र आ रहा हैं | क्षेत्र में धरल्ले से चल रहा है रेत का खनन, जिस पर प्रशासन तंज कसने में नाकाम साबित हो रहा है |घोडाडोंगरी तहसील के बांसपुर और शिवसागर बीच बहने वाली तवा नदी से अवैध रूप रोजाना सैकड़ो डम्पर अवैध रेत निकाली जा रही है | विश्वसनीय सूत्रों ने बताया कि जिसमें स्थानीय गांव बांसपुर के कुछ आधा दर्जन रसूखदार लोग मिलकर रेता भरवाने का काम करवा रहे है | जिससे तवा नदी का सीना छलनी होता चला जा रहा है |

तवा नदी से निलकने वाली रेता से मध्यप्रदेश राजस्व को सालाना कई करोड़ रुपयों का नुकसान हो रहा है और प्रशासन मुखदर्शक बने देख रहा हैं | वही बांसपुर गांव के जागरूक नागरिकों ने बताया कि रेत से भरे डम्पर ग्रामीण रोड़ पर चलने से ग्रामीण सडक की रोजाना धज्जिया उड़ रही है | दिन के समय में दो –दो स्कूल इसी सडक के किनारे संचालित होते है | डम्पर के गति भी हमेशा ही तेज़ रहती है |आम नागरिको एवं छात्र- छात्राओं की जान पर हमेशा ही ख़तरा बना रहता है | इस दैनिक समाचार –पत्र के माध्यम से जिला प्रशासन को यह बताना चाहते है कि इस अनदेखी –अनचाही मुसीबत से ग्रामीणवासी के साथ – साथ छात्र- छात्राओं का भविष्य सुरक्षित करते हुए जनता के हित में फैसला लेते हुए रेत कारोबार पर अंकुश लगाये |यदि प्रशासन अंकुश लगाने में नाकाम होता हैं तो आशीष इरपाचे,संजय इरपाचे, रोशन विश्वकर्मा ,विनोद,दुर्गेश सहित गाँव के सैकड़ो नागरिक आंदोलन करने के लिए बाध्य होगे |

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!