scn news india

मध्य प्रदेश का यूनिक और इनोवेटिव डिजिटल मीडिया

Betul

बुखार की खबर पाकर कलेक्टर तुरंत पहुंचे मर्दवानी

Scn News India

sury 7

ब्यूरो रिपोर्ट 

  • बुखार की खबर पाकर कलेक्टर तुरंत पहुंचे मर्दवानी
  • 4 मरीजों को एंबुलेंस से जिला अस्पताल बैतूल में कराया भर्ती
  • चौपाल लगाकर लोगों से पूछा हाल चाल

बैतूल –कलेक्टर एवं जिला दंडाधिकारी श्री नरेन्द्र कुमार सूर्यवंशी ने शुक्रवार को घोड़ाडोंगरी के अंतर्गत मर्दवानी गांव में बुखार, सिर, हाथ-पैर में दर्द की शिकायत मिलने पर तुरंत मर्दवानी पहुंचकर लोगों से चर्चा की। कलेक्टर श्री सूर्यवंशी ने बताया कि गांव में हालत सामान्य है। स्वास्थ्य अधिकारी ने बताया कि 4 लोगों के प्लेटलेट्स कम होने के कारण बुखार एवं हाथ, पैर तथा सिर में दर्द की शिकायत है। इन्हें समझाकर जिला अस्पताल में भर्ती कराया गया है।

nirikshan 01 3
मरीजों को तुरंत भेजा जिला अस्पताल
कलेक्टर श्री सूर्यवंशी ने बताया कि स्वास्थ्य अधिकारी के अनुसार 4 लोगों के प्लेटलेट्स कम पाए गए है। मैने स्वयं गांव की इन लोगों सावित्री 30 वर्ष, कैलाश यादव, जुलमा धुर्वे और कान्हा से मुलाकात की। प्लेटलेट्स कम होने के कारण इन्हें बुखार था। सीएमएचओ ने चारों मरीजों को एंबुलेंस से जिला अस्पताल में भर्ती कराया गया। जहां उनका उपचार जारी है। स्वास्थ्य अधिकारी, एसडीएम, तहसीलदार, की टीम मय एम्बुलेंस के साथ गांव में तैयार है, जो 3 से 4 मरीज है उन्हें आवश्यकतानुसार जरूरत पड़ने पर हॉस्पिटलाईज कराया जा सकेगा। गांव की सरपंच ने बताया कि एक व्यक्ति विनोद आत्मज रामा की मृत्यु हुई है।
कलेक्टर श्री सूर्यवंशी ने बताया कि 22 मई को पहला प्रकरण सामने आया था। कुछ समय में स्थानीय झोलाछाप डॉक्टर्स से इलाज कराते रहे। कुछ और प्रकरण सामने आने पर जिला प्रशासन द्वारा स्वास्थ्य कैम्प लगाकर उनका इलाज प्रारंभ किया गया। इन कैम्पों में 37 मरीजों का स्वास्थ्य परीक्षण किया गया। स्वास्थ्य अधिकारी सुश्री श्वेता द्वारा बताया गया कि स्थानीय लोग झोलाछाप डॉक्टरों के पास ईलाज के लिए जाते है। हर घर में महुआ और गुड़ की चाय पी जाती है। इलाज की सभी सुविधाएं होने के बाद भी और समझाने के बाद भी इलाज के लिए नहीं आते है।

nirikshan 02 1
झोलाछाप डॉक्टर्स रहे सावधान
कलेक्टर श्री नरेन्द्र कुमार सूर्यवंशी ने कहा कि झोलाछाप डॉक्टर तैयार रहे उनके खिलाफ सख्त कार्रवाई की जाएगी। जनता के जीवन के साथ खिलवाड़ किसी को नहीं करने दूंगा। मुख्य चिकित्सा अधिकारी डॉ.रविकांत उईके ने स्थानीय भाषा में लोगों को बताया कि झोलाछाप डॉक्टर्स से आप लोग दूर रहे।
कलेक्टर श्री सूर्यवंशी ने ग्रामवासियों को एक स्थान पर बुलाकर पटरी पर बैठकर उनकी समस्याओं को सुना और स्वास्थ्य संबंधी सुझाव भी दिए। गांव वालों ने कलेक्टर को सामने देख कर अपनी रोजमर्रा की जरूरतों पर भी ध्यान आकर्षित कराया, जिसमें उन्हें उनके राशन कार्ड बनवाने, मृत्यु प्रमाण पत्र एवं पेंशन जैसे प्रकरण सामने रखे। कलेक्टर ने एसडीएम और तहसीलदार को आज ही कार्रवाई प्रारंभ करने के निर्देश दिए।  

nirikshan 5