scn news india

मध्य प्रदेश का यूनिक और इनोवेटिव डिजिटल मीडिया

scn news india

CG Weather Alert: छत्‍तीसगढ़ में मानसून एक्टिव, कई जिलों में आज भारी बारिश का अलर्ट,

Scn News India
mousam 7
भारत मौसम विज्ञान केन्द्र:
*छत्तीसगढ़ मौसम अपडेट* CG Weather Alert: छत्तीसगढ़ में मानसून एक्टिव, कई जिलों में आज भारी बारिश का अलर्ट, मौसम विभाग ने जारी की चेतावनी
मानसूनी सिस्टम नहीं बनने की वजह से छत्तीसगढ़ में व्यापक रूप से बारिश नहीं हुई है। जून का महीना 36 फीसदी कम बारिश के साथ बीतने को है। अभी रायपुर समेत 31 जिलों में स्थिति माइनस की है। छत्तीसगढ़ में मानसून के सक्रिय होने से मौसम का मिजाज बदल गया है। प्रदेश के कई क्षेत्रों में शनिवार को भारी बारिश को लेकर अलर्ट (Rainfall Alert) जारी किया गया।
छत्तीसगढ़ में शुरू हो गया है झमाझम मानसूनी बारिश का दौर।
HIGHLIGHTS
रायपुर, बिलासपुर संभाग में आज भारी बारिश के आसार
बारिश से दो दिनों में तीन डिग्री गिरा अधिकतम तापमान
1 जुलाई से छत्तीसगढ़ में बढ़ने वाला है बारिश का दायरा
रायपुर। मानसूनी द्रोणिका के प्रभाव से शनिवार को छत्तीसगढ़ के कई क्षेत्रों में भारी बारिश के आसार (Rainfall Alert in Chhattisgarh) है। मौसम विभाग ने संभावना जताई है कि रायपुर संभाग व बिलासपुर संभाग से लगे जिलों में यह भारी वर्षा हो सकती है।
इनमें प्रमुख रूप से रायगढ़, महासमुंद, बलौदाबाजार, जशपुर सहित अन्य बहुत से क्षेत्रों में भारी बारिश हो सकती है। साथ ही कुछ क्षेत्रों में अंधड़ चलने के साथ बिजली भी गिर सकती है। प्रदेश के अधिकतम तापमान में भी गिरावट आएगी। बीते दो दिनों में अधिकतम तापमान में तीन डिग्री की गिरावट दर्ज की गई है।
विभाग के अनुसार रविवार तक मौसम का मिजाज ऐसा ही रहेगा। इसके बाद सोमवार एक जुलाई से प्रदेश में बारिश का दायरा भी बढ़ने वाला है। शुक्रवार को प्रदेश भर में बलरामपुर सर्वाधिक गर्म रहा, एआरजी बलरामपुर का अधिकतम तापमान 37.6 डिग्री रहा। रायपुर का अधिकतम तापमान 32.5 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया।
शुक्रवार को रायपुर सहित प्रदेश के कई क्षेत्रों में आंशिक रूप से बादल छाए रहे तथा कुछ क्षेत्रों में हल्की से मध्यम बारिश भी हुई। इसके चलते अधिकतम व न्यूनतम तापमान में गिरावट भी दर्ज की गई। बीजापुर में 23 सेमी, नगरी में 9 सेमी, भाटापारा में 8 सेमी, बलौदाबाजार-जगदलपुर-पाटन में 7 सेमी, दोरनापाल-तोंगपाल-बस्तर में 6 सेमी बारिश हुई। इन क्षेत्रों के साथ ही प्रदेश के कई क्षेत्रों में हल्की से मध्यम वर्षा दर्ज की गई।
मौसम विशेषज्ञ एचपी चंद्रा ने बताया कि एक निम्न दाब का क्षेत्र उत्तर पश्चिम बंगाल की खाड़ी और उससे लगे पश्चिम मध्य बंगाल की खाड़ी के ऊपर स्थित है। इसके साथ ही हवा का चक्रीय चक्रवाती परिसंचरण 5.8 किमी ऊंचाई तक फैला हुआ है। प्रदेश में इसके प्रभाव से शनिवार को अधिकांश क्षेत्रों में हल्की से मध्यम वर्षा होगी और रायपुर संभाग व बिलासपुर संभाग से लगे कुछ क्षेत्रों में भारी बारिश हो सकती है।
*बिलासपुर मौसम अपडेट* Weather News : बिलासपुर में बादलों का आना हुआ फ़्लॉप अधिकतम तापमान 32 डिग्री सेल्सियस दर्ज
मौसम विभाग के अनुसार, आने वाले दिनों में बंपर बारिश की संभावना है। अब देखना यह है कि कब यह संभावना हकीकत बनती है और लोगों को राहत मिलती है। गुरुवार की रात बिलासपुर में हुई झमाझम बारिश ने शहरवासियों को राहत की सांस दी।
न्यायधानी में बादलों की बेरूखी
HIGHLIGHTS
दक्षिण के बाद अब मध्य में बरसेंगे आज बादल।
बादलों की अठखेलियां, प्रमुख शहरों का तापमान
आज से बदलेगी बादलों की स्थिति
बिलासपुर। न्यायधानी में बादलों की बेरूखी से लोग परेशान हैं। आसमान में बादल मंडरा हैं, लेकिन धरती की प्यास नहीं बुझ रही। गुरु की रात 12 मिलीमीटर वर्षा झलकी जो किसानों के कोई काम का नहीं था।
मौसम की परिस्थिति से आमजन काफी निराश हुए। लोगों को अब सिर्फ एक ही सवाल सता रहा है कि आखिर कब आएगा वह सुहाना मौसम, जब गर्मी और उमस से पूरी तरह छुटकारा मिलेगा। बिलासपुर के लोग अब एक बार फिर से बारिश की आस लगाए बैठे हैं।
रातभर आसमान से बरसी बूंदों ने गर्मी की तपिश को ठंडक में बदल दिया। लोगों ने सोचा कि अब गर्मी से निजात मिलेगी और मौसम सुहाना हो जाएगा। लेकिन शुक्रवार की सुबह ने लोगों के अरमानों पर पानी फेर दिया। सूरज की किरणों के साथ ही गर्मी और उमस ने फिर से शहर को अपनी चपेट में ले लिया। लोग दिनभर पसीने से तर-ब-तर होते रहे।
बादलों की अठखेलियां
दिनभर आसमान में बादलों की अठखेलियां जारी रहीं। लोगों की निगाहें आसमान पर टिकी रहीं कि शायद फिर से बारिश हो जाए और गर्मी से राहत मिले। लेकिन बादल बिना बरसे ही लौट गए, जिससे लोगों की उम्मीदें धरी की धरी रह गईं। शाम को आसमान में काली घटाएं छा गईं। और बारिश फिर से आकर सबको खुश कर देगी। लेकिन यह सिर्फ एक दृश्य मात्र था। बारिश नहीं हुई और लोगों की उम्मीदें अधूरी रह गईं।
आज से बदलेगी बादलों की स्थिति
मौसम विभाग के मुताबिक एक द्रोणिका उत्तर पूर्व राजस्थान से निम्न दाब के केंद्र तक 1.5 किलोमीटर ऊंचाई तक विस्तारित है। एक विंड शियर जोन 20° उत्तर में 3.1 किलोमीटर से 5.8 किलोमीटर ऊंचाई तक विस्तारित है। प्रदेश में 29 जून को अधिकांश स्थानों पर हल्की से मध्यम वर्षा होने या गरज-चमक के साथ छींटे पड़ने की संभावना है। एक दो स्थानों पर गरज-चमक के साथ भारी वर्षा होने, वज्रपात होने व अंधड़ चलने की संभावना है। अधिकतम तापमान में गिरावट संभावित है। भारी वर्षा का क्षेत्र मुख्यतः मध्य छत्तीसगढ रहने की संभावना है।