scn news india

मध्य प्रदेश का यूनिक और इनोवेटिव डिजिटल मीडिया

Betul

पी.एम.श्री योजना के उद्देश्य के अनुसार स्कूलों को बनाएं ”चाइल्ड फ्रेंडली” : कलेक्टर श्री सूर्यवंशी

Scn News India

sury 1

ब्यूरो रिपोर्ट 

पी.एम.श्री योजना के उद्देश्य के अनुसार स्कूलों को बनाएं ”चाइल्ड फ्रेंडली” : कलेक्टर श्री सूर्यवंशी
किताबे अलमारी में बंद करने के लिए नहीं हो: कलेक्टर

बैतूल -पीएमश्री योजना के उद्देश्य के अनुसार शिक्षक स्कूलों को चाइल्ड-फ्रेंडली बनाएं, जिसमें बच्चों को स्कूल जाना बोझ नहीं लगे और किताबें उनकी दोस्त हो। यह बात कलेक्टर श्री नरेन्द्र कुमार सूर्यवंशी ने शिक्षा विभाग की समीक्षा के दौरान कही। कलेक्टर श्री सूर्यवंशी बुधवार को कलेक्टोरेट सभागार में शिक्षण और शिक्षा पद्धति पर अधिकारियों से योजनावार चर्चा कर रहे थे। उन्होंने कहा कि शिक्षा को उच्च गुणवत्ता युक्त बनाने के लिए शिक्षा की अधोसंरचना और संसाधनों का अधिक से अधिक उपयोग करें। राज्य शासन द्वारा शिक्षा के क्षेत्र में वित्तीय संसाधनों की उपलब्धता कराई गई है, जिसका शत-प्रतिशत उपयोग सुनिश्चित करें।
कलेक्टर श्री सूर्यवंशी ने कहा कि शिक्षा विभाग एवं ट्रायबल विभाग के अधीन आने वाले स्कूल एवं स्कूली छात्रावास संचालित है। बच्चों ने शिक्षा के क्षेत्र में बहुत अच्छा प्रदर्शन किया है। बच्चों को स्कूल ही नहीं उनके छात्रावास में उनके रहने, खाने, पेयजल व्यवस्था, पंखे, टॉयलेट आदि सभी समुचित व्यवस्था करें। जिसमें छात्रावास के उद्देश्य पूरे हो। हमारा जिला ट्रायबल जिला है। कलेक्टर श्री सूर्यवंशी ने कहा शिक्षकों का दायित्व केवल स्कूल और शिक्षा तक ही सीमित नहीं होना चाहिए। ग्रामीण क्षेत्रों में विद्यार्थियों को स्कूल तक आने जाने के मार्ग में यदि वो नदी, नाला पार करके आना होता है तो उस पर ध्यान दें, प्रशासन के माध्यम से उस पर पुल, पुलिया का निर्माण कराए।
जिला शिक्षा अधिकारी श्री अनिल कुशवाह ने बताया कि पीएमश्री योजना के अंतर्गत जिले में प्रथम चरण 13 स्कूलों का चयन किया गया था। इनमें ग्रामीण में 9 स्कूल और शहरी क्षेत्र के 4 स्कूल शामिल किए गए। द्वितीय चरण में 4 स्कूल शामिल किए गए जो सभी ग्रामीण क्षेत्र के स्कूल है। कलेक्टर श्री सूर्यवंशी ने पीएमश्री योजना के अंतर्गत निर्माणाधीन कार्यों को अद्यतन जानकारी ली। उन्होंने कहा निर्माण गुणवत्तापूर्वक एवं समय सीमा में पूरा कराएं।
अभिभावक बने शिक्षक
केन्द्र एवं राज्य सरकार द्वारा जनजातिय विद्यार्थियों के लिए अनेक योजनाएं संचालित की गई है। हमारा प्रयास यह होना चाहिए कि योजना का लाभ इस वर्ग के विद्यार्थियों को मिल सके।
सीएम राईज स्कूल
जिला शिक्षा अधिकारी डॉ. कुशवाह ने बताया कि बैतूल जिले में सीएम राईज योजना के अंतर्गत 3 स्कूल का चयन किया गया था। इनमें आमला में शासकीय उत्कृष्ट उच्चतर माध्यमिक विद्यालय, बैतूल बाजार में शासकीय कृषि उमावि और मुलताई में शासकीय उत्कृष्ट उमावि संचालित है। इन स्कूलों के भवनों का पुर्नउद्धार विभिन्न स्तर पर निर्माणाधीन है। द्वितीय चरण में जिले के प्रभात पट्टन के उत्कृष्ट उमावि का चयन सीएम राईज स्कूल के लिए किया गया है। इनमें 2023-24 में 3 हजार 305 कक्षावार नामांकन कराए गए जबकि 2024-25 में 3 हजार 256 नामांकन कराए गए है।
निशुल्क सायकिल वितरण
राज्य शासन द्वारा शासकीय माध्यमिक एवं हाईस्कूल के ऐसे विद्यार्थियों को जो स्कूल भवन में 2 किमी दूर केचमेंट से आते है एवं उनके निवास क्षेत्र में माध्यमिक हाईस्कूल अथवा उ.मा.विद्यालय संचालित नहीं है, निशुल्क सायकिल वितरित का लाभ प्रदान किया गया। निशुल्क सायकिल वितरण योजना में कक्षा 6वी के 2801 विद्यार्थियों को तथा कक्षा 9वीं के 7 हजार 7323 विद्यार्थियों को सायकिल वितरित की गई।
94 विद्यार्थी हुए जेईई और नीट में सफल
जिले में वर्ष 2023-24 में 28 विद्यार्थी जेईई एवं 57 विद्यार्थी  नीट में सफल हुए है। इसमें स्कूल शिक्षा विभाग के चार विकासखंडों में 12 विद्यार्थी जेईई एवं 43 नीट के विद्यार्थी शामिल है। डॉ.कुशवाह ने बताया कि कक्षा 11वीं एवं 12वीं के इच्छुक विद्यार्थियों की निशुल्क कोचिंग जुलाई 2023 से प्रारंभ की गई। प्रत्येक विकासखंड के शिक्षक शिक्षिकाओं का शैक्षिक उन्मुखीकरण कार्यक्रम आयोजित किया गया। शिक्षकों के स्वयं चयनित शीर्षकों पर अध्यापन हेतु प्रशिक्षण दिया गया। इसके अलावा निशुल्क आवासीय कोचिंग 1 मार्च 2024 वार्षिक परीक्षाओं के उपरांत विशेष कक्षाएं प्रारंभ की गई, जिसमें जेईई एवं नीट के विद्यार्थियों का पंजीयन किया गया।